उज्जैन सिंहस्थ में छाया बुरहानपुर का केला

बुरहानपुर । करीब दो महीने बाद केले के दाम में तेजी आई है। साथ ही बुरहानपुर का केला देश विदेश के अलावा उज्जैन सिंहस्थ के लिए भी जा रहा है। इसलिए भी इसके दामों में अचानक उछाल आया है। जबकि अक्टूबर 2015 और मार्च 2016 में केला व्यापार संकट में आ गया था। स्थिति यह थी कि अक्टूबर में केला 100 से 450 और मार्च में 200 से 300 रूपए प्रति क्विंटल तक बिका। बुधवार को केले के दाम 800 से 1500 रूपए प्रति क्विंटल रहे।

कृषि उपज मंडी में इन दिनों केले की अच्छी आवक हो रही है। यहां से करीब 15 टन केला भूटान, राजस्थान, दिल्ली, छत्तीसग$ढ, इंदौर भेजा जा रहा है। इंदौर से बड़े व्यापारियों द्वारा केला उज्जैन सिंहस्थ में खपाया जा रहा है। मांग अधिक होने के कारण वर्तमान में इसका भाव भी तेज हो गया है। जिससे किसान और केला ग्रुप व्यवसायियों ने भी राहत की सांस ली है। वर्तमान में बाजार भाव 800 से 1500 रूपए प्रति क्विंटल है।

सिर्फ  जलगांव, नंदुरबार और बुरहानपुर में सालभर होता है केला
कृषि उपज मंडी सचिव केआर पगारे के अनुसार इस सीजन में दूसरी जगह केला अधिक नहीं होता। जलगांव, नंदुरबार और बुरहानपुर बेल्ट ही ऐसा है जहां इस सीजन में भी अच्छी मात्रा में केले का उत्पादन होता है। सालभर यहां के ले की फसल होने से देश विदेश में यहां का केला जाता है। वर्तमान में मंडी से 50-60 वाहन लोड हो रहे हैं। यानि 15 टन से अधिक केला बाहर जा रहा है। उज्जैन में चल रहे सिंहस्थ में भी इंदौर के व्यापारी माल भेज रहे हैं।

अब जाकर सुधरे दाम
दापोरा के केला ग्रुप व्यापारी राजेश पाटिल ने कहा कि पिछले कुछ समय से केला व्यापार ठीक नहीं चल रहा था। अब इसमें धीरे धीरे सुधार आ गया है। वर्तमान में क्षेत्र में भाव 600 से 1400 रूपए तक मिल रहा है। हालांकि अभी कम वाहन लग रहे हैं, लेकिन स्थिति में और सुधार की उम्मीद है।

नुकसान से किसान आहत
एक तरफ केला व्यापार में सुधार हुआ है तो दूसरी तरफ दो दिन पहले आए आंधी, तूफान से किसानों की केला फसल भी बर्बाद हुई है। पातोंडा व अंबाड़ा क्षेत्र में नुकसान से किसान आहत हैं। यहां राजस्व विभाग सर्वे कर रहा है।

अक्टूबर में बिगड़े थे हालात
केला व्यापार की स्थिति अक्टूबर माह में ज्यादा खराब हुई थी। इसके बाद यह 500 से 1200 रूपए तक भी बिका। अब जाकर अच्छे दाम मिल रहे हैं। -केआर पगारे, सचिव कृषि उपज मंडी बुरहानपुर

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY