प्रशासन ने सोयाबीन की फसल पर चलायी जेसीबी, महिला किसान ने खुद को लगा ली आग

मधय प्रदेश में किसानों के साथ हो रही बदसलूकी की एक और घटना देवास जिले से आयी है। यहां प्रशासन ने सोयाबीन की खड़ी फसल पर जेसीबी चला दी। इससे नाराज महिला किसान ने खुद को आग लगा ली। हालांकि महिला को तत्काल अस्पताल में भर्ती कराया गया। महिला का आरोप है कि नाले की जमीन के बहाने हमारे खेत की खड़ी फसल पर जेसीबी चलाई जा रही थी। विनती करने पर भी अफसर नहीं मानें, तो आत्मदाह किया। इस मामले में पुलिस ने 10 से अधिक लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया में वायरल हो गया। उधर कांग्रेस ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर हमला किया। पार्टी ने शिवराज सरकार को किसान विरोधी बताते हुए मामले की हाईकोर्ट के सिटिंग जज से जांच कराने की मांग कर डाली।
मामले की जानकारी देते हुए कलेक्टर चंद्रमौली शुक्ला ने बताया कि जिले की सतवास तहसील के ग्राम अतवास में विगत दिवस रास्ते के विवाद के मामले में निराकरण के लिए गई राजस्व एवं पुलिस विभाग की टीम पर दर्जन भर लोगों ने हमला किया था। दोनों पक्षों के आवागमन के लिए रास्ते की समस्या का हल निकालने हेतु आवेदन सतवास तहसील न्यायालय में आया था, जिस पर न्यायालय में आपसी सहमति बनी तथा रास्ते को सुचारू बनाने का आदेश न्यायालय द्वारा दिया गया।
मौके पर राजस्व व पुलिस टीम पहुंची, जो रास्ते की बाधा को हटाने का कार्य कर रही थी। इसी बीच अचानक रमजान खां चिल्लाकर उसकी पत्नी शाबरा बी को बाहर लाया तथा रमजान ने अपनी पत्नी शाबरा बी की चुन्नी पर मिट्टी का तेल छिड़कते हुए शाबरा बी के मना करने के बावजूद रमजान ने आग लगा दी। उन्होंने बताया कि महिला 5 से 10 प्रतिशत झुलस गई थी। जिसका उपचार अस्पताल में चल रहा है। इसी के साथ पटवारी, राजस्व निरीक्षक तथा अन्य लोगों का भी उपचार जारी है। वर्तमान में ग्राम अतवास में स्थिति शांति पूर्ण तथा नियंत्रण में हैं। इस मामले में सभी आरोपियों पर थाना सतवास में भादवि की धारा 147, 353, 332, 294, 506 के तहत एफआईआर दर्ज करवाई गई है।

कांग्रेस ने की न्यायिक जांच की मांग
कांग्रेस ने कहा है कि देवास जिले में प्रशासनिक बर्बरता के कारण आत्मदाह की घटना निंदनीय है और पार्टी हाई कोर्ट के सिटिंग जज से जांच कराने की मांग करती है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि जो खुद को मामा कहलबाते हैं उनके राज में एक बहन खुद को आग के हवाले कर रही है। देवास जिले के सतवास में खड़ी फसल पर जेसीबी चलाने का विरोध करते हुए एक बेबस महिला ने खुद को आग के हवाले कर दिया। उन्होंने सरकार से मांग की है कि पूरे मामले की जांच करवा कर दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाए और पीड़ित महिला का संपूर्ण इलाज सरकार कराए तथा परिवार को हर संभव मदद की जाए। इसके अलावा पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से जानना चाहा है कि खड़ी फसल पर जेसीबी चलाना कहां का न्याय है? उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि एक तो किसान पहले से ही प्रकृति की मार झेल रहे हैं और दूसरे कोरोना महामारी के चलते आर्थिक तंगी का माहौल है। ऐसे में भाजपा सरकार किसानों की सहायता करना तो दूर उनके खेतों में खड़ी फसल को उजाड़ने का काम कर रही है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY