ई-पुलिस जवानों ने सिखे आनलाइन एफआईआर के गुण

4लखनऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस ने आज सीसीटीएनएस परीक्षण कार्य शुरू करते हुए पुलिस दफ्तर में अपने ई-पुलिस जवानों को आनलाइन एफआईआर प्रक्रिया की नेटवर्किंग के गुण सिखाये गये और आनलाइन ही आवदेकों को सूचना देने के तौर तरिकों की इन्हें शिक्षा दी गयी।

उल्लेखनीय है कि क्राइम एंड क्रिमिनल ट्रैकिंग एंड नेटवर्क सिस्टम अर्थात सीसीटीएनएस के तहत अब आनलाइन शिकायतें दर्ज हो जायेगी। इसके लिए वेबसाइट पर एक लिंक रहेगा। इससे जनता को कहीं से भी अपनी शिकायत दर्ज कराने में कठिनाई नही होगी। इस प्रक्रिया को समझने के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस के प्रमुख अधिकारियों ने एक प्रशिक्षण कार्यक्रम किया। इसमें आनलाइन एफआईआर दर्ज करने के लिए प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

पुलिस विभाग के अनुसार क्राइम एंड क्रिमिनल ट्रैकिंग एंड नेटवर्क सिस्टम (सीसीटीएनएस) के तहत पुलिस की वेबसाइट पर नागरिक सेवा के तहत ई-एफआईआर का ऐप्स भी शुरू कर दिया गया है। इसमें शिकायत दर्ज होने के कुछ घंटे के बाद ही पुलिस सक्रिय होगी। एफआईआर दर्ज होने में केवल ई थाना प्रभारी की संस्तुति चाहिए होगी।

सोमवार को प्रशिक्षण कार्यक्रम में ए.डी.जी कानून-व्यवस्था दलजीत चैधरी के अनुसार कोई व्यक्ति यात्रा में है और कोई घटना हो गयी तो इसकी जानकारी पुलिस को देने के लिए सौ नम्बर उपलब्ध है। वहां से एफआईआर दर्ज करानी हो तो संबंधित थाना पर जाना होता है और ऐसे में समय जाता है। आनलाइन एफआईआर दर्ज होने से लोगों को आसानी महसूस होगी। इसमें एक फार्म होगा, जिसे भरते ही एफआईआर दर्ज हो जायेगी और एक नम्बर मिल जायेगा। हिन्दी में भरे जाने वाले फार्म की भाषा मंगल फान्ट की है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY