तीन दिवसीय शिवाजी जयंती महोत्सव शुरू

जय भवानी-जय शिवाजी के जयकारों के साथ निकली विशाल रैली

इंदौर।  मराठी भाषी संघ के तत्वावधान में आयोजित तीन दिवसीय शिवाजी महाराज की 386वीं जयंती की शुरूआत शुक्रवार को समाज बंधुओं ने वाहन रैली व शिवाजी प्रतिमा पर माल्यार्पण के साथ की। इस अवसर पर सैकड़ों समाज बंधु सहित कई वरिष्ठ नेता भी वाहन रैली में शामिल हुए। वाहन रैली के मार्ग में जगह-जगह विभिन्न मंचों के माध्यम से रैली का स्वागत भी किया गया।

मराठी भाषी संघ अध्यक्ष स्वाति काशिद, पार्षद सुधीर कोल्हे, गजानंद गावड़े ने जानकारी देते हुए बताया कि समाज बंधुओं द्वारा शिवाजी जयंती महोत्सव के तहत विशाल वाहन रैली की शुरूआत परदेशीपुरा चौराहा से की गई। वाहन रैली के पूर्व में सबसे पहले शिवाजी महाराज की प्रतिकृति स्वरूप प्रतिमा पर माल्यार्पण भी किया गया। इसके पश्चात विधायक रमेश मैंदोला, एमआईसी मेंबर चंदूराव शिंदे, सुधीर देड़गे, युवराज काशिद, पार्षद सुधीर कोल्हे सहित अन्य नेताओं ने समाज बंधुओं को संबोधित करे हुए शिवाजी महाराज की वीरता पर प्रकाश डाला।

रैली से पूर्व सभी समाज बंधुओं को शहर में बढ़ते हुए यातायात को देखते हुए सभी को हेलमेट पहने के साथ-साथ यातायात नियमों का पालन करने की भी समझाईश दी गई। इसके पश्चात समाज बंधुओं द्वारा विशाल वाहन रैली निकाली गई। वाहन रैली में सभी समाज बंधु जय भवानी… जय शिवाजी के जयकारों के साथ-साथ अपने हाथों में फगवा पतकाऐं हाथों में लिए रैली में शामिल हुए। वाहन रैली के मार्ग में विभिन्न मंचों के माध्यम से पुष्पों से रैली का स्वागत भी किया गय।

वाहन रैली परदेशीपुरा चौराहे से प्रारंभ होकर पाटनीपुरा, मालवीय नगर, बाल विनय मंदिर, मधुमिलन चौराहा होते हुए एमवाय पहुंची। जहां समाज बंधुओं द्वारा शिवाजी महाराज की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर मिठाई वितरित की गई। कार्यक्रम में मुख्य रूप से रूपेश देवलिया, भरत देशमुख, संजय इंगले सहित अनेक गणमान् नागिरक एवं समाज बंधु उपस्थित थे।

शनिवार 20 फरवरी को सुबह चित्रकला और शाम को भजन-कीर्तन का आयोजन –

मराठी भाषी संघ से जुड़े पार्षद सुधीर कोल्हे ने बताया कि शनिवार 20 फरवरी को सुबह 8 से 10 बजे तक आईटीआई रोड़ स्थित मां कनकेश्वरी धाम पर युवतियों एवं महिलाओं के लिए विशाल रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय आने वाले प्रतिभागी को मुख्य अतिथियों द्वारा पुरस्कृत किया जाएगा। शाम 7 से 9 बजे मां कनकेश्वरी धाम पर कल्याणे काळे महाराज (शिवशाहिर) द्वारा श्री छत्रपति शिवाजी महाराज के चरित्र एव उनकी वीरता पर प्रकाश डाला जाएगा साथ ही भक्तिमय कीर्तन की भी प्रस्तुति दी जाएगी। रविवार 21 फरवरी को सुबह 8 से 10 बजे तक बच्चों के लिए चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा।

इसके पश्चात शाम 6 बजे मां कनकेश्वरी धाम पर पुणे के 70 कलाकारों एवं श्रीमती दामिनी पंवार द्वारा निर्मित मराठीच्या पाऊलखुणा मराठी नाटक की प्रस्तुति दी जाएगी। पूणे के कलाकारों द्वारा नृत्य एवं संगीत की भी प्रस्तुति दी जाएगी। इस वर्ष महोत्सव में कोल्हापुर के राजबाडा की प्रतिकृति स्वरूप मंच बनाया गया है। जो पूरे महोत्सव में विशेष आकर्षण का केंद्र रहेगा।  इस तीन दिवसीय शिवाजी महाराज जयंती महोत्सव में जो समाज बंधु प्रशासनिक, राजनीतिक, खेल,शिक्षा एवं अन्य क्षेत्रों में समाज का गौरव बढ़ा रहे हैं। ऐसे समाज बंधुओं को तीन अलग-अलग सम्मानों से सम्मानित किया जाएगा।

मराठी भाषी संघ समिति एवं मुख्य अतिथियों द्वारा श्रीरविंद्र सुखदेव शिन्दे को (श्री छत्रपति शिवाजी महाराज सम्मान), सुश्री सरला सरवटे एवं श्रीमती संगीता वाविकर को ( राजमाता मातो श्री जीजाऊ सम्मान ) एवं राधिक आपटे, दिनेश तांबे (श्रीछत्रपति संभाजी राजे सम्मान)  से सम्मानित किया जाएगा।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY