भोपाल का निगाहबान : अनिल गुलाटी का बेस्‍ट क्लिक

बेस्‍ट क्लिक :  गुफा मंदिर के पास की पहाड़ी को मनुआभान की टेकरी की यह चट्टान ऐसी लगती है मानो भोपाल की निगहबानी यानी सुरक्षा कर रही हो। मनुआभान राजा भोज का दरबारी था, जो कई तरह के स्वांग रचकर उनका मनोरंजन करता था। बाद में उसने अपना यह स्वभाव त्याग दिया और भगवत सिद्धि में लीन हो गया और यह मन्तुगाचार्य कहलाया। उसी के नाम पर टेकरी का नाम पड़ा, जो अपभ्रंश होकर मनुआभान टेकरी कहलाती है। यह टेकरी समुद्रतल से 1300 फीट ऊंची है, जहां से नगर का विहंगम दृश्य दिखलाई देता है।

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY