अनुपम खेर के नाराज होने की असली वजह क्या है?

प्रश्न 1: अपने और साध्वी प्रज्ञा के ख़िलाफ़ अनुपम खेर के बयान से आहत योगी आदित्यनाथ ने खेर को फ़िल्मों के साथ वास्तविक जीवन में भी खलनायक की उपाधि दे दी। जब भाजपा को अपने स्थापित नेता योगी और साध्वी से समस्या नहीं है तो पार्टी में स्थापना के लिए छटपटा रहे खेर क्यों नाराज़गी दिखा रहे हैं- केवल मोदी जी की भक्ति के कारण, राजनीति के रास्ते पर लंबी दूरी तय करने के लिए, अंतरात्मा की पुकार व्यक्त करने या असली कारण कुछ और है? व्याख्या करें।

प्रश्न 2: प्रदेश की एक भाजपा विधायक ने, कन्हैया के बहाने, देश के विरोध में बोलने वालों की मांओं को इस प्रवृत्ति का दोषी ठहराया है। जगद्गुरु आदि शंकराचार्य का उद्घोष कहता है कि पूत कपूत हो सकता है परंतु माता कुमाता नहीं हो सकती। इन दोनों विचारों के पक्ष या विपक्ष में राय दें।

प्रश्न३: धर्मशाला में होने वाले भारत पाकिस्तान टी20 वर्ल्ड कप क्रिकेट मैच के विरोधी हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्रसिंह ने मैच की जगह बदले जाने के ऐन पहले पूर्ण सहयोग की बात कहते हुए यू टर्न क्यों ले लिया? विवाद के कारण मैच शिफ़्ट होने की पूरी संभावना के चलते सहयोग का नाटक करने में क्या हर्ज है यह सोचकर, देश की छवि पर विपरीत असर पड़ने की संभावना, क्रिकेट की लोकप्रियता के मद्देनज़र पार्टी को राजनैतिक नुक़सान की आशंका, राष्ट्रविरोधी कहलाने का भय या कोई गोपनीय रणनीति? आकलन करें।

प्रश्न 4: नौ हजार करोड़ के कर्ज की वसूली के लिए साहूकार बैंक जब तक सुप्रीम कोर्ट से गुहार लगाते कि विजय माल्या को देश से बाहर न जाने दें तब तक वे जा भी चुके थे। क्या अब सभी ओर से घड़ियाली आंसू बहाए जाएँगे? क्या जल्दी ही किंगफिशर के किंग को भारत वापस लाया जा सकेगा? ललित मोदी का उदाहरण ध्यान में रखे बिना जवाब दें।

प्रश्न 5: आर्ट ऑफ लिविंग का विश्व सांस्कृतिक महोत्सव कितना भी विवादों में घिरा हो, एनजीटी में कई विभागों द्वारा अनुमति को लेकर अलग-अलग दलीलें दी जा रही हों, परंतु संसद में सरकार की ओर से कार्यक्रम के लिए क्लीन चिट प्राप्त कर श्री श्री ने कितनी बड़ी कामयाबी हासिल कर ली है? आकलन करें।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY