नारद स्टिंग कांड की सीबीआई जांच करायें ममता : अमित शाह

कोलकाता। विधानसभा चुनाव के लिये जारी प्रचार अभियान में विपक्षी दलों को नारद स्टिंग के रूप में तृणमूल पर निशाना साधने का जो अवसर मिला है उसका वे भरपूर इस्तेमाल कर रहे हैं। मंगलवार को राज्य में चुनाव प्रचार के लिये आये भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने भी इस मामले को लेकर तृणमूल को घेरने की कोशिश की। कोलकाता प्रेस क्लब में संवाददाताओं से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि यदि ममता चाहें तो मामले की सीबीआई जांच की सिफारिश कर दूध का दूध और पानी का पानी कर सकती हैं। उन्होंने कहा कि नारद मामले की हकीकत सामने आनी चाहिये और यदि ममता को लगता है कि उनकी पार्टी के नेताओं के खिलाफ साजिश की गई है तो वे सीबीआई जांच सिफारिश क्यों नहीं करतीं? उन्होंने कहा कि ममता केंद्र सरकार से सीबीआई जांच की सिफारिश करे और अगले ३६ घंटो में मामले की सारी सच्चाई सामने आ जायेगी। नारद मामले को राज्यसभा की एथिक्स कमिटी में भेजे जाने को लेकर वाम दलों और कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि लोकसभा में भाजपा को बहुमत प्राप्त होने की वजह से एथिक्स कमिटी में भेजना संभव हो पाया लेकिन राज्य सभा में कांग्रेस और वाम दलों ने इसे लेकर ज्यादा दिलचस्पी नहीं दिखाई। भाजपा अध्यक्ष ने नारद के अलावा सारदा चिटफंड व बर्दवान ब्लास्ट के मुद्दे पर भी सत्तारूढ पार्टी पर निशाना साधाŸ। उन्होंने कहा कि इन मामलों की जांच शुरू में राज्य सरकार की एजेंसियों ने की जिसके चलते मामले और जटिल होते गये। सारदा मामले को लेकर तृणमूल और भाजपा में सांठगांठ के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए अमित शाह ने कहा कि सारदा मामले के दोषियों को जरूर सजा मिलेगी। उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कहा कि भाजपा न तो कभी तृणमूल का दामन थामेगी और ना ही वाम दलों का। घुसपैठ का मुद्दा उठाते हुए अमित शाह ने आरोप लगाया कि तृणमूल घुसपैठ के मामले को लेकर भी राजनीति कर रही है। भाजपा नेता राहुल सिन्हा को दो पुलिस कर्मियों द्वारा रिश्वत दिये जाने के मामले पर भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि इसकी जिम्मेदारी पुलिस कमिश्नर की भी है। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी राज्य में निष्पक्ष व शांतिपूर्ण चुनाव कराये जाने के लिये चुनाव आयोग से आरोपी पुलिस अधिकारियों को हटाये जाने की मांग करेगी।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY