रोहित वेमुला की मां और भाई ने अपनाया बौद्ध धर्म

नई दिल्ली। अपनी खुदकुशी से पूरे देश को आंदोलित कर देने वाले हैदराबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी के रिसर्च स्कॉलर रोहित वेमुला की मां राधिका और छोटे भाई राजा ने बौद्ध धर्म अपना लिया। गुरुवार को डॉ. भीमराव अंबेडकर की 125वीं जयंती पर दोनों ने मुंबई में बौद्ध धर्म की दीक्षा ली। बौद्ध सोसायटी ऑफ इंडिया ने इस कार्यक्रम का आयोजन किया जिसमें दोनों को बौद्ध धर्म की दीक्षा दी गई। ‘जस्टिस फॉर वेमुला’ आंदोलन से जुड़े समर्थक भी इस कार्यक्रम में शामिल रहे।
रोहित की मां और उसके भाई ने दादर में स्थित अंबेडकर भवन में एक साथ इसकी दीक्षा ली। इस दौरान रोहित वेमुला के भाई ने कहा कि मेरा भाई भी बौद्ध बनना चाहता था। इसके लिए वह प्रयासरत भी था लेकिन वह कर न सका। रोहित के भाई ने ये भी कहा था कि रोहित ने भले ही धर्म नहीं बदला था, लेकिन उसकी विचारधारा और झुकाव बौद्ध धर्म की तरफ था। उनका कहना है कि दलित होने की वजह से हिंदू समाज में उसे जिस तरह का भेदभाव झेलना पड़ा, वही उसकी खुदकुशी की वजह बना।
हैदराबाद विश्वविद्यालय में आत्महत्या करने वाले रोहित वेमुला का परिवार इस बात से बहुत दुखी था। इसी वजह से उन्होंने धर्म परिवर्तन कराने की बात भी कही थी। प्रकाश अंबेडकर ने बताया कि रोहित वेमुला की मां और भाई ने खुद बौद्ध धर्म ग्रहण करने के लिए संपर्क किया था। रोहित वेमुला के भाई राजा वेमुला से संपर्क किया गया तो उन्होंने बौद्ध धर्म अपनाने की पुष्टि की।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY