सही ड्रेस ही नहीं सही ड्रेस भी है बहुत जरूरी

सही ड्रेस सेंस व्यक्तित्व को एक आकर्षक पहचान देता है। इससे आप इंटरव्यू, पार्टी−फंक्शन, मीटिंग, स्कूल, कॉलेज और दफ्तर में लोगों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करते हैं। कपड़े पहनने के साथ−साथ उन्हें स्टाइल देने का सेंस होना बेहद जरूरी है। इसलिए यह बात मायने रखती है कि आप जो पहन रहे/रही हैं, उसे किस ढंग से पहन रहे/रही हैं।

यूं तो ड्रेस सेंस हर उम्र के लोगों के लिए मायने रखता है। लेकिन युवक−युवतियों के लिए यह कुछ ज्यादा ही अहमियत रखता है। दरअसल ड्रेस सेंस ऐसा होना चाहिए कि लोग देखें तो नजर ठहर सी जाए। इसके साथ ही उसे आपके कपड़े का चुनाव और उसे पहनने के खास अंदाज के लिए आपके प्रशंसा करनी पड़े। कपड़े व्यक्तित्व को निखारने के साथ−साथ आप में आत्मविश्वास भी पैदा करते हैं। लिहाजा कपड़े का चुनाव पूरी तरह सोच−विचार कर करें। क्योंकि इस व्यवसायिक युग में आपके बारे में कोई भी धारणा आपके आउटफिट से ही लगाई जाती है।

अच्छी ड्रेस आपको हमेशा ताजा बनाए रखती है। इससे आपके अंदर हमेशा जोश और आत्मविश्वास का संचार होता रहता है। इंटरव्यू देना हो, किसी मीटिंग या जरूरी काम को अंजाम देना हो तो आपको उसके लिए पहले से ही तैयारियां करनी पड़ती हैं। मसलन प्वाइंटस तैयार करना, सभी बातों की खबर रखना, पर इन सबके साथ−साथ आपका ड्रेस सेंस भी इसमें अहम भूमिका निभाता है। हालांकि किसी भी क्षेत्र में कामयाबी सतत मेहनत और लगन से मिलती है। लेकिन बेहतर और आकर्षक कपड़े का चुनाव जहां आपके फस्ट इंप्रेशन को मजबूत करता है वहीं आपकी सकारात्मक सोच में भी बढ़ोत्तरी करता है।

दरअसल ड्रेस सेंस की महत्ता इसलिए भी बढ़ जाती है कि सिर्फ कीमती कपड़े पहनकर आकर्षक नहीं बना जा सकता। क्योंकि कपड़े का चयन करने से पहले शारीरिक बनावट और कद काठी का ध्यान रखना सबसे अहम होता है। कोई युवक−युवती चाहे जितना भी खूबसूरत हो, लेकिन यदि उसने अपनी कद−काठी के अनुसार, ड्रेस न पहना हो तो वह आकर्षक नहीं दिख सकते। लिहाजा आपके ड्रेस की डिजाइन कट और स्टाइल ऐसी होनी चाहिए जिससे आपके व्यक्तित्व में निखार आए।

आमतौर पर जो लड़कियां या लड़के स्लिम−ट्रिम हैं उनके लिए तो सब चल जाता है। लेकिन जो मोटे या काफी डील−डौल वाले हैं, वे टी−शर्ट या हैवी वर्क वाले कपड़े तथा हाईनेक वाले कपड़े न पहनें। हाफ स्ट्राइप्सवाले आउटफिट पहनने से आपकी हाइट भी अच्छी लगेगी और स्लिमर लुक भी मिलेगा। राजस्थानी स्कर्ट को कुर्ते या टॉप के साथ पहनें। यदि वेस्टर्न ड्रेस पसंद है तो पौंचों और कुर्ते को जींस या स्लिम ट्राउजर के साथ पहन सकती हैं। इसके अलावा पौंचों का इस्तेमाल स्कर्ट्स के साथ भी कर सकती हैं। आजकल नी लेंथ कॉफ लेंथ और एंकल लेंथ वाली स्कर्ट बेहद पसंद की जा रही है।

कपड़े, खरीदते वक्त उनके रंगों का भी खास ध्यान रखें। आजकल गुलाबी, वाटरमेलन, नारंगी, मैटेलिक गोल्ड, लाल आइवरी फ्यूशिया और टरक्वॉय कलर्स काफी चलन में हैं। कपड़े का चुनाव करते वक्त अपनी हाइट का भी विशेष ध्यान रखें। अगर आपकी हाइट कम है और आप लंबी दिखना चाहती हैं तो एक रंग की ड्रेस ही चुनें। ड्रेस से मिलती−जुलती हील पहनें और यदि साड़ी पहनी है तो हल्की साड़ियां जैसे शिफॉन और जॉर्जेट का चुनाव करें।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY