दरभंगा: कमला-बलान का पश्चिमी तटबंध टूटा, लाखों लोग प्रभावित

दरभंगा। कमला-बलान नदी का पश्चिमी तटबंध टूटने से बिहार के दरभंगा जिले के तीन प्रखंड बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं। तटबंध टूटने से गौराबौराम एवं अलीनगर विधानसभा के 33 पंचायत में लगभग दो लाख की आबादी बाढ़ के चपेट में आ गई है। वहीं घनश्यामपुर प्रखंड के सभी 12 पंचायत, किरतपुर के पांच पंचायत, गोराबौराम के 10 पंचायत एवं बिरौल कुशेश्वरस्थान प्रखंड के पांच-पांच पंचायत बुरी तरह प्रभावित हुई हैं।

नए इलाकों में बाढ़ का पानी तेजी से फैलने के कारण लोगों के बीच दहशत का माहौल है। तटबंध के आसपास के गांवों रसयारी, घनश्यामपुर, आधारपुर, बौराम के हजारों लोग घर खाली कर ऊंचे स्थानों पर शरण लेने को मजबूर हैं। एन.डी.आर.एफ की टीम द्वारा प्रभावित लोगों को ऊंचे स्थान पर पहुंचाए जाने का काम जारी है। तटबंध के टूटने के बाबत पूछे जाने पर घनश्यामपुर के सीओ रंभू कुमार ने बताया है कि रात डेढ़-दो बजे के बीच प्रखंड क्षेत्र के बुढैब-इनायतपुर पंचायत के निकट बांध टूटा है। उन्होंने बताया कि बांध की क्षमता 57 फीट है, जबकि पानी 57.15 फीट होने के कारण बांध उक्त स्थल पर टूट गया। साथ ही उन्होंने बांध के टूटने की एक वजह निर्माण सामग्री के अभाव में कमजोर तटबंध का समय से मरम्मत कार्य सम्पन्न नहीं होने को भी बताया है।

कमला बलान और महानंदा नदी के तटबंधों में आई दरार

 उत्तर बिहार में नदी के जल ग्रहण क्षेत्र में लगातार हो रही तेज बारिश और विभिन्न बैराजों से छोड़े जा रहे पानी के कारण कमला बलान नदी का पश्चिमी तटबंध दरभंगा के घनश्यामपुर में बुढैब-इनायतपुर पंचायत के निकट टूट गया । सर्किल ऑफिसर रंभू कुमार ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि बांध की क्षमता 57 फीट पानी वहन करने की है । उन्होंने बताया कि 57.15 फीट बहने लगा जिसके कारण तटबंध टूट गया। इस बीच अधिकारिक सूत्रों ने माना कि संसाधनों के अभाव के कारण समय से कमजोर तटबंध की मरम्मत नहीं की जा सकी। सूत्रों ने बताया कि तटबंध के टूटने से गोराबौराम एवं अलीनगर विधानसभा के 33 पंचायत के लगभग दो लाख की आबादी बाढ़ के चपेट में आ गई।

घनश्यामपुर प्रखंड के सभी 12 पंचायत, किरतपुर के पांच पंचायत गोराबौराम के 10 पंचायत एवं बिरौल कुशेश्वरस्थान प्रखंड के पांच पांच पंचायत बुरी तरह बाहर से प्रभावित हुए हैं। इसके अलावा नये इलाकों में भी बाढ़ का पानी तेजी से फैल रहा है। तटबंध के आसपास बसे रसयारी,घनश्यामपुर,आधारपुर,बौराम गांवों के हजारों लोग घर खाली कर ऊंचे स्थान पर शरण ले रहे हैं।
इस बीच कटिहार जिले के कदवा प्रखंड में महानंदा के तटबंध में शिवगंज और गूठेलि के पास दो स्थानों पर दरार आ गई है जिससे निचले इलाकों के गांवों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है ।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY