नगर भ्रमण पर निकलेंगे भगवान महाकाल, छह रूपों में देंगे दर्शन

उज्जैन। उज्जैन के विश्व प्रसिद्ध महाकालेश्वर भगवान की श्रावण-भादौ माह में निकलने वाली सवारियों के क्रम में भादौ मास की पहली सवारी सोमवार को शाम चार बजे नगर भ्रमण पर निकलेगी। भगवान महाकाल छह स्वरूप में अपने भक्तों को दर्शन देंगे। भगवान महाकाल की पालकी मेंचन्द्रमौलेश्वर विराजित रहेंगे और हाथी पर मनमहेश मुखरविन्द, गरूड़ रथ पर शिव तांडव प्रतिमा, नंदी रथ पर उमामहेश मुखारविन्द तथा डोल रथ पर होल्कर स्टेट का मुखारविन्द एवं रथ पर घटाटोप का मुखारबिन्द विराजित होंगे जो अपने भक्तों को दर्शन देने के लिए शाही ठाट-बाट के साथ नगर भ्रमण पर निकलेंगे।

भगवान महाकाल सोमवार को नगर भ्रमण पर निकलने के पूर्व महाकालेश्वर मंदिर के सभामंडप में विधिवत भगवान चन्द्रमोलेश्वर का पूजन-अर्चन होने के पश्चात अपनी प्रजा के हाल जानने के लिए नगर भ्रमण पर निकलेंगे। मंदिर के मुख्य द्वार पर सशस्त्र पुलिस बल के जवानों के द्वारा पालकी में विराजित भगवान चन्द्रमौलेश्वर को सलामी देंगे। उसके बाद परंपरागत मार्ग से होते हुए सवारी क्षिप्रातट रामघाट पर पहुंचेगी। जहां पर भगवान महाकाल का क्षिप्रा के जल से अभिषेक एवं पूजा-अर्चना की जायेगी। पूजन-अर्चन के बाद सवारी निर्धारित मार्गों से होते हुए पुन: महाकालेश्वर मंदिर पहुंचेगी।

फूलों से सजा भगवान महाकाल का दरबार

भादौ मास की भगवान महाकाल की सवारी के एक दिन पूर्व रविवार को भगवान महाकाल का नंदीगृह एवं गर्भगृह फूलों से सजाया गया है। मंदिर में इस समय हजारों श्रद्धालु भगवान महाकाल के दर्शन के लिए आ रहे हैं। नंदी मण्डप एवं गर्भगृह को फूलों से सजाने पर इस आकर्षक फूलों की सजावट की भूरी-भूरी प्रशंसा करते हैं।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY