सोमवार को निकलेगी भगवान महाकाल की शाही सवारी

उज्जैन। उज्जैन के विश्व प्रसिद्ध भगवान महाकालेश्वर की शाही सवारी भादौ मास के द्वितीय सोमवार, 21 अगस्त को धूमधाम से निकाली जाएगी। इस दौरान सोमवती अमावस्या भी है। इसीलिए दोनों की तैयारियां जोर-शोर से शुरू हो गई हैं। कलेक्टर संकेत भोंडवे एवं पुलिस अधीक्षक सचिन अतुलकर ने शाही सवारी एवं सोमवती अमावस्या की तैयारी को लेकर प्रशासन एवं पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे समन्वित रूप से कार्य करें एवं अपने-अपने अधीनस्थ कर्मचारियों से भी व्यवस्थाओं में अच्छा कार्य करवाएंं।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विनायक वर्मा ने बताया कि सोमवती अमावस्या एवं शाही सवारी के मद्देनजर रामघाट इस दिन पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था करने के निर्देश दिये गये हैं। पुलिस अधिकारी एवं होमगार्ड के अधिकारी संयुक्त रूप से घाटों पर सुरक्षा का कार्य करेंगे। नगर निगम की ओर से तैराक दल भी तैनात किया जायेगा। साथ ही 150 होमगार्ड की तैनाती की जायेगी। सोमवती अमावस्या पर आने वाले श्रद्धालुओं को रेलवे स्टेशन एवं बसस्टेण्ड पर पर्याप्त सुविधा उपलब्ध कराई जायेगी। यहां पर भीड़ नियंत्रण के लिये मजिस्ट्रेट एवं पुलिस अधिकारियों की तैनाती की जायेगी।

20 एवं 21 अगस्त को उज्जैन शहर में पार्किंग के लिये स्थान तय कर दिये गये हैं। इनमें कार्तिक मेला ग्राउण्ड, चारधाम मन्दिर, नृसिंह घाट, हरिफाटक ओवर ब्रिज के नीचे, सामाजिक न्याय परिसर एवं क्षीर सागर स्टेडियम के बाहर का स्थान शामिल है। पार्किंग पर आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश नगर निगम को दिये गये हैं।

शाही सवारी के दिन मिर्जा नईमबेग मार्ग से लेकर तेलीवाड़ा, नईसडक़, सतीगेट होते हुए छत्रीचौक तक भीड़ नियंतरण के लिये आवश्यक बैरिकेटिंग करने के निर्देश लोक निर्माण विभाग को दिये गये हैं। वहीं, निर्णय लिया गया है कि शाही सवारी में डीजे प्रतिबंधित किये जायेंगे। डीजे लगी सभी गाडिय़ां पहले से ही रोक ली जायेंगी। साथ ही निर्देश दिये गये हैं कि शहर में लगने वाले 100 से अधिक स्वागत मंच का आकार भी नियंत्रित किया जायेगा। मंच पर चढ़ऩे वाले व्यक्तियों की संख्या भी निर्धारित होगी। रामघाट पर एवं सवारी मार्ग पर ड्रोन उड़ाने पर प्रतिबंध लगाया गया है। बिना अनुमति के ड्रोन उड़ाने वाले व्यक्ति के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही की जायेगी।

शाही सवारी मार्ग में भीड़ नियंत्रण की दृष्टि से पानी के पाऊच वितरण, फल वितरण, चॉकलेट वितरण एवं अन्य खाद्य सामग्री वितरण पर प्रतिबंध लगाया जायेगा। प्रशासन द्वारा अपील की गई है कि सवारी मार्ग पर लोग सिक्के नहीं उछालें, न ही अन्य खाद्य सामग्री का वितरण करें।

शाही सवारी के दिन सभा मण्डप में भगवान का पूजन संभागायुक्त द्वारा किया जायेगा। सवारी में शामिल होने वाली भजन मण्डलियां नियत समय पर बेगमबाग वाले मार्ग पर एकत्रित होंगी। ऐसे दल जिन्हें अनुमति नहीं मिली है, वे सवारी में शामिल नहीं हो पायेंगे। भजन मण्डलियों के सदस्यों की संख्या भी 25 से अधिक नहीं होगी। सवारी मार्ग को सेक्टर में विभाजित कर मानसेवी अधिकारियों की ड्यूटी लगाई जायेगी। आकस्मिक चिकित्सा एवं विद्युत व्यवस्था के लिये आवश्यक निर्देश जारी किये गये हैं। मंच निर्माण के लिये सम्बन्धित एसडीएम एवं सीएसपी अनुमति देंगे। मंच का आकार भी निर्धारित किया जायेगा।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY