विधायक के बिगड़े बोल, डीएफओ को कहा ‘जूते मारूंगा’

खंडवा। मध्य प्रदेश के मंत्री विधायक कब क्या कह जाए कोई नहीं जानता। राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की संभल कर बोलने की नसीहत बेहअसर नजर आ रही है। कभी सरकार के मंत्री सार्वजनिक मंचो से विवादित टिप्पणी करते है तो कभी विधायकों का गुस्सा सातवें आसमान पर होता है।

ताजा मामला खंडवा जिले का है जहां भाजपा विधायक ने तैश में वनमंडल अधिकारी को जूता मारने की बात कह डाली। दरअसल जिला पंचायत की बैठक में बुधवार को पौधारोपण पर चर्चा चल रही थी। इस दौरान विधायक देवेन्द्र वर्मा ने वन विभाग द्वारा 300 एकड़ में लगाए गए पौधों की सुरक्षा पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि पौधे सूख रहे है, जानवर खा रहे है। विधायक ने पौधों की सुरक्षा के लिए चौकीदार तैनात करने को कहा। इस पर डीएफओ एसके सिंह ने पुराने कामों का भुगतान नहीं होने का हवाला देते हुए कहा कि भुगतान नहीं होने से सीएम हेल्पलाइन में शिकायत होती है, जिस पर जवाब देना पड़ता है। रूपए आए बगैर सुरक्षा संभव नहीं है।

अधिकारी की बात सुनकर विधायक इतना नाराज हो गए कि उन्होंने डीएफओ को हद में रहने की हिदायत देते हुए कहा कि यही गिराकर जूता मारूंगा। इस पर डीएफओ ने विधायक से सभ्यता से बात करने के लिए कहा लेकिन उनका गुस्सा शांत नहीं हुआ। विवाद इतना बढ़ गया कि बैठक को ही समाप्त करना पड़ा। इसके बाद डीएफओ ने जिला पंचायत सीईओ डॉ वरदमूर्ति के साथ कोतवाली पहुंचकर लिखित शिकायत की। वहीं इस पूरे मामले पर विधायक देवेन्द्र वर्मा का कहना है कि मैने किसी भी तरह की अभद्र भाषा का प्रयोग नहीं किया। आमजन के हित और सरकारी योजनाओं को लेकर सवाल किया था। जूता मारने की बात नहीं कही।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY