रूमी जाफरी और योगेश को राष्ट्रीय किशोर कुमार सम्मान से नवाजा

खण्डवा। प्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री कुंवर विजय शाह द्वारा शुक्रवार को देर शाम आयोजित भव्य समारोह में वर्ष 2015 एवं 2016 क्रमश: पटकथा लेखन के लिए रूमी जाफरी तथा गीत लेखन के लिए योगेश को राष्ट्रीय किशोर कुमार सम्मान से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में अनुराधा पोड़वाल द्वारा भक्ति गीत एवं फिल्मी गीत गाकर न केवल सम्मान को गौरवान्वित किया, बल्कि देर रात तक दर्शकों को बांधे रखा। देर रात तक चले इस कार्यक्रम में अनुराधा पोड़वाल के गीतों पर दर्शक झूमते नजर आए।

कार्यक्रम में मंत्री विजय शाह ने बताया गया कि राष्ट्रीय किशोर कुमार सम्मान कार्यक्रम एक दिन से बढ़ाकर दो दिन में किया जाएगा, जिससे स्थानीय गायकों को भी गाने का मौका मिल सकेगा। कार्यक्रम में पाश्र्व गायिका अनुराधा पोड़वाल को भी सम्मानित किया गया। बता दें कि राष्ट्रीय किशोर कुमार सम्मान में यह 18 एवं 19वां सम्मान है। यह सम्मान मध्यप्रदेश शासन द्वारा रूमी जाफरी को पटकथा लेखन के 3 दशक की रचनात्मक सर्कियता, गहरी सर्जना तथा सिनेमा में आमजन की आकांक्षा वाले कथानक को उसकी विवधताओं में रोचक ढंग से उद्घाटित करने के लिए तथा योगेश को एक गीतकार के रूप में 5 दशक की सर्किता सिने गीतों में सालिन, प्रीत पूर्ण एवं मन को छू लेने वाले प्रभावों से भरी रचनाओं के माध्यम से भारतीय दर्शकों की चेतना में अपनी सहज एवं सराहनीय पहचान के लिए दिया गया है।

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय किशोर सम्मान मध्यप्रदेष संस्कृति विभाग ने उत्कृष्टता और सर्जन के राष्ट्रीय एकता स्तर पर सम्मानित करने की अपनी परम्परा का अनुसरण करते हुए सिनेमा के क्षेत्र में निर्देशन, अभिनय, पटकथा, तथा गीत लेखन के लिए वार्षिक राष्ट्रीय किशोर कुमार सम्मान की स्थापना की है। इस सम्मान के अंतर्गत 2 लाख रूपये की राषि और सम्मान पट्टिका भेंट की जाती है। राष्ट्रीय किशोर कुमार सम्मान प्रथम बार वर्ष 1997-1998 में ऋषिकेश मुखर्जी को दिया गया था।

कार्यक्रम का शुभारंभ कलेक्टर अभिषेक सिंह और अनुराधा पोडवाल द्वारा दीप प्रज्जवलित कर किया। कार्यक्रम में जिला पंचायत की अध्यक्ष हसीना बाई भाटे, महापौर सुभाष कोठारी, मांधाता विधायक लोकेन्द्र सिंह तोमर तथा खण्डवा विधायक देवेन्द्र वर्मा एवं सम्मानीय श्रोतागण उपस्थित थे। कार्यक्रम में संस्कृति विभाग की मेडम वाणी ने राष्ट्रीय किशोर कुमार सम्मान का वाचन किया।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY