अनंत हेगड़े के खिलाफ अदालती कार्रवाई पर विचार कर रहे हैं टीपू सुलतान के वंशज

कोलकाता। टीपू सुलतान के वंशज अठारहवीं सदी के मैसूर के शासक के खिलाफ कथित ‘‘अपमानजनक’’ टिप्पणियों पर केन्द्रीय मंत्री अनंतकुमार हेगड़े के खिलाफ कानूनी कार्रवाई पर विचार कर रहे हैं। टीपू के बेटे मुनीरुद्दीन के वंशजों में से एक बख्तियार अली ने बातचीत में मंत्री की टिप्पणी को ‘‘बेबुनियाद और शर्मनाक’’ बताते हुए कहा, ‘‘इस तरह की अपमानजनक टिप्पणियां अस्वीकार्य हैं। वह अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए इस तरह की ओछी टिप्पणियां कर रहे हैं।’’

अली ने कहा, ‘‘हम वकीलों से सलाह ले रहे हैं और उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई चाहेंगे। हम उनके खिलाफ एक मानहानि याचिका दायर कर सकते हैं।’’ भाजपा नेता एवं केन्द्रीय मंत्री ने 21 अक्तूबर की अपनी ट्विट में कर्नाटक सरकार से कहा था कि 10 नवंबर को टीपू सुलतान जयंती के ‘‘शर्मनाक’’ कार्यक्रम में उन्हें आमंत्रित नहीं किया जाए। ‘मैसूर के शेर’ के नाम से मशहूर टीपू सुलतान के इस वंशज से जब पूछा गया कि क्या वह हेगड़े के खिलाफ प्रधानमंत्री को कोई पत्र लिखेंगे तो उन्होंने कहा, ‘‘नहीं, प्रधानमंत्री को लिखने की हमारी ऐसी कोई योजना नहीं है।’’

इससे पहले 2016 में हेगड़े ने टीपू सुलतान जयंती मनाने पर राज्य सरकार की आलोचना की थी। उनका दावा है कि टीपू सुलतान ‘‘कन्नड भाषा के विरोधी और हिंदू विरोधी थे।’’ इसके बाद हेगड़े ने उत्तरा कन्नडा जिला में टीपू सुलतान जयंती को बाधित करने की धमकी दी थी। इसपर उन्हें गिरफ्तार किया गया था।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY