कम्युनिस्ट पार्टी के टिकट पर बेगूसराय से लोकसभा चुनाव लड़ेंगे कन्हैया कुमार!

पटना: कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (CPI) का दावा है कि छात्रनेता और JNU छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार लोकसभा चुनाव लड़ेंगे, और इसके लिए उनसे सहमति ले ली गई है. CPI राष्ट्रीय काउंसिल के सचिव केआर नारायण ने अगले आम चुनाव से 17 महीने पहले ही कहा कि कन्हैया कुमार को उनके गृह जिले बेगूसराय से चुनावी मैदान में उतारने जाने की संभावना है.

पटना में राज्य परिषद की कार्यकारिणी की दो-दिवसीय बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में केआर नारायण ने कहा कि कन्हैया कुमार को केरल से भी लोकसभा चुनाव लड़ाने का प्रस्ताव है, लेकिन बिहार इकाई की मांग हैं कि उन्हें यहीं से चुनाव में खड़ा किया जाए.

वैसे, अगर कन्हैया कुमार वामपंथियों का गढ़ मानी जाती रही बेगूसराय सीट से चुनाव लड़ते हैं, तो अब मुकाबला बेहद रोचक हो सकता है, क्योंकि फिलहाल यहां पिछली दो बार से BJP प्रत्याशी जीत रहे हैं, लेकिन BJP के नेताओं का भी मानना है कि कन्हैया के मैदान में कूदने से उनके लिए सीट पर कब्ज़ा बरकरार रखना आसान नहीं होगा, क्योंकि तब लालू प्रसाद यादव उन्हें समर्थन दे सकते हैं और BJP अब तक मामूली अंतर से ही चुनाव जीतती आई है.

वामपंथी दलों का दावा है कि कन्हैया कुमार अभी से चुनाव की तैयारी में लग गए हैं, और वह लोकसभा क्षेत्र के विभिन्न इलाकों का दौरा कर रहे हैं, लेकिन पार्टी का यह भी कहना है कि उन्हें अन्य इलाकों से लड़ाए जाने का भी दबाव है. वामपंथी नेता यह भी कहते हैं कि इस मुद्दे पर आखिरी फैसला गठबंधन के सभी दल मिलकर करेंगे, क्योंकि वामपंथी इस बार RJD और कांग्रेस के गठबंधन में रहकर ही चुनाव लड़ना पसंद करेंगे. हालांकि RJD का कहना है कि वामपंथी दलों की ओर से सीट की मांग को मानना मुश्किल है, लेकिन कन्हैया कुमार जैसा उम्मीदवार होने पर एक सीट पर समर्थन करने में कोई ऐतराज़ नहीं.
कन्हैया कुमार जेल से रिहा होने के बाद अपने पटना दौरे के समय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और RJD अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव दोनों से मिले थे, और लालू यादव को पैर छूकर प्रणाम करने के चलते विरोधियों ने उन पर जमकर निशाना भी साधा था.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY