धर्म संसद में होगा ‘अहम फैसला’, योगी, भागवत भी शामिल होंगे

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राम मंदिर के मुद्दे पर चर्चा के लिए विश्व हिन्दू परिषद द्वारा 24 नवंबर को आयोजित तीन दिवसीय ‘धर्म संसद’ में शिरकत करेंगे। इस बैठक का आयोजन ऐसे समय में किया जा रहा है जब राम मंदिर विवाद को अदालत के बाहर निपटाने की चर्चा जोर पकड़ चुकी है।

आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर विभिन्न पक्षों के बीच मध्यस्थता कर विवाद को सुलझाने की कोशिशों में लगे हुए हैं। विहिप के अंतरराष्ट्रीय महासचिव सुरेंद्र कुमार जैन ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘धर्म संसद में हिस्सा लेने के लिए बड़ी संख्या में संतों और साधुओं को बुलाया गया है।’’ भागवत और आदित्यनाथ दोनों कार्यक्रम को संबोधित करेंगे। उन्होंने कहा कि तीन दिवसीय सम्मेलन के दौरान अयोध्या में राम मंदिर निर्माण, गोरक्षा और अन्य मुद्दों पर चर्चा की जाएगी।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY