धर्म संस्‍कृति के कार्यक्रम में भोपाल आएंगी अनुराधा पौडवाल

भोपाल। अखिल भारतीय स्‍तर पर सनातन संस्‍कृति के संवर्धन एवं रक्षार्थ कार्य करने वाली संस्‍था धर्म-संस्‍कृति स‍मिति के आगामी कार्यक्रम में भजन संध्‍या करने देश की ख्‍यात भजन गायिका अनुराधा पौडवाल भोपाल आएंगी। वहीं समिति मध्‍यप्रदेश के उन सभी प्राचीन नगरों के नाम जिन्‍हें बाद में षड्यंत्र पूर्वक बदलने का प्रयास हुआ तथा एक ही स्‍थान को दो नामों से या उसे विकृत कर बोला जा रहा है, उन्‍हें उनके सही नामों से ही जाना जाए और विशेषकर भोपाल स्‍थ‍ित वे सभी स्‍थान जिनके नाम ठीक ढंग से नहीं हैं, उनके नामकरण करने एवं उसकी जानकारी शासन को देकर सभी स्‍थानों के नाम ठीक कहने के लिए आगे कार्य करेगी। उक्‍त निर्णय रविवार को यहां रिवेरा टाउनशिप में हुई समिति की अखिल भारतीय बैठक में लिए गए।

बैठक में सबसे पहले महामंत्री प्रतिवेदन का वाचन हुआ, जिसमें अभी तक हुए सभी कार्यक्रमों की संक्षिप्‍त जानकारी रखी गई व आगामी कार्यक्रमों के बारे में साझा निर्णय हेतु विषय सभी के समक्ष लाए गए। बैठक में समिति अध्‍यक्ष, विधायक एवं जिला भाजपा अध्‍यक्ष सुरेंद्रनाथ सिंह ने कहा कि मध्‍यप्रदेश के मुख्‍यमंत्री इस बात को कई बार कह चुके हैं कि हमें सभी स्‍थानों के नामों का सही उच्‍चारण करना चाहिए, टीटी नगर न बोलकर उसे पूरा तात्‍या टोपे नगर बोलें साथ ही 10 नंबर, 5 नंबर के स्‍थान पर भोपाल शहर में सभी स्‍थानों के सही नामकरण होना चाहिए, इसके लिए समिति अपने स्‍थान की विशेषता को देखते हुए नाम तय करे और उसे शासन को सौंपे, जिससे कि इस दिशा में धर्म संस्‍कृति समिति के सहयोग से कुछ सार्थक कार्य शासन स्‍तर पर संभव हो सके। इसके लिए एक अलग से उप समिति भी गठि‍त की जाए।

उक्‍त बैठक में अध्‍यक्ष सुरेंद्रनाथ सिंह की बात को मानते हुए तत्‍काल इस कार्य के लिए एक उपसमिति गठित कर दी गई है। उधर, बैठक में संगठन सचिव स्‍वप्‍नेश वर्मा ने प्रदेश में मंदिर समिति का विषय सभी के बीच प्रमुखता से रखा तथा इसके बारे में सभी को विस्‍तार से अवगत कराया । इसे लेकर सदस्‍यों का कहना था कि इसकी वार्ष‍िक राशि और अन्‍य संसाधनों को लेकर हमें सरकार के पास जाकर अवश्‍य ही अपना पक्ष रखना चाहिए। समिति बैठक में एक यह मुद्दा भी उठा कि मध्‍यप्रदेश के भोपाल शहर में विशेषकर कई स्‍थानों को आगे वक्फ बोर्ड के तहत ले लिया गया जबकि उसके पुराने कागज कुछ ओर कहते हैं, ऐसे में जहां-जहां योजनाबद्ध तरीके से गलत कार्य हो रहे हैं, उन्‍हें रोका जाना चाहिए और सरकार को साक्ष्‍यों के साथ इस बात से समय रहते अवगत कराते रहना होगा।

धर्म-संस्‍कृति समिति के कोषाध्‍यक्ष नरेन्द्र भानू खण्‍डेलवाल ने इस दौरान बैठक में जानकारी दी कि किस तरह से गरीब बच्‍चों की मदद पुस्‍तक इत्‍यादि से लेकर अन्‍य कार्यों में समिति ने पिछले एक वर्ष में की है। उन्‍होंने बताया कि इसके अलावा भी हमारी समिति ने इस साल अन्‍न कूट, परिचर्चा, धार्म‍िक एकत्रीकरण के कार्य प्रदेशभर में सफलता के साथ सम्‍पन्‍न किए हैं। उन्‍होंने अपने संगठन के आगामी सांस्‍कृतिक कार्यक्रम के बारे में बताते हुए यह भी कहा कि संगठन ने जनवरी 2018 में भोपाल में एक भजन संध्‍या का कार्यक्रम रखना प्रस्‍तावित किया है जिसमें प्रख्‍यात भजन गायिका अनुराधा पौडवाल आएंगी। इसे लेकर सहमति में आगे सभी ने एक मत से प्रस्‍ताव पारित कर दिया। बैठक में उपस्‍थ‍ित सांसद आलोक संजर ने कहा कि आप जो भी जनकल्‍याण के कार्य में सहयोग लेना चाहें मैं उसको अपनी तरफ से देने के लिए तैयार हूं। वहीं बैठक में यह भी निर्णय हुआ है कि समिति सनातन हिन्‍दू धर्म-संस्‍कृति के कुछ प्रमुख मुद्दों को विवादास्‍पद तथा सहयोगात्‍मक रूप से मुद्दों पर आगे सरकार के बीच अपनी बात रखेगी।

बैठक में रमेश शर्मा गुट्टू भैया, पूर्व विधायक, पं. विष्‍णु राजोरिया धर्माधिकारी भोपाल, वैद्य गोपाल दास मेहता, डॉ. निवेदिता शर्मा,दीपक रंघुवंशी, डॉ. इंद्रवीर मिश्रा, राजेंद्र सोनी, डॉ. मयंक चतुर्वेदी,संदीप पटेल, दीपक मेहता, नरेंद्र शुक्‍ला, आशुतोष पाराशर, अजय देवनानी, धनेश चतुर्वेदी, सोरभ मेहता इत्‍यादि समिति पदाधिकारी उपस्‍थ‍ित हुए।

बैठक समापन के पश्चात स्नेह भोज में शैक्षणिक व सामाजिक क्षेत्र के कई प्रतिष्ठित ख्याति प्राप्त विशेषज्ञ उपस्थित हुये जिनमें रामदेव भारद्वाज कुलपति सपरिवार सम्मिलित हुये।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY