आईएसआईएस ने ली कश्मीर में आतंकी हमले की जिम्मेदारी, डीजीपी ने कहा- सिर्फ प्रोपेगंडा

नई दिल्ली: आईएसआईएस ने कश्मीर में एक पुलिस स्टेशन पर आतंकी हमले की जिम्मेदारी ली है जिसे डीजीपी ने झूठा दावा बताया है. उन्होंने कहा है कि मुझे नहीं लगता कि कश्मीर में आईएसआईएस की कोई मौजूदगी है.

इस्लामिक आतंकी संगठन आईएसआईएस ने आधिकारिक तौर पर दावा किया है कि वह कश्मीर में पहुंच गया है. उसने कहा है कि भविष्य मे ऐसे हमले होते रहेंगे. इस पर जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक एसपी वैद्य का कहना है कि यह मात्र एक प्रोपेगंडा है और सिवाय इसके कुछ भी नहीं है.

आपको बता दें कि कश्मीर के जकूरा में हुए हमले की आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट की ओर से जिम्मेदारी लेने के बाद सरकार भी सतर्क हो गई है. इस हमले में एक सब इंस्पेक्टर शहीद हो गया था. आईएस ने अपनी आधिकारक वेबसाइट एहमाक पर अरबी भाषा में लिखकर इस हमले की जिम्मेदारी ली है.

शुक्रवार को श्रीनगर में जकूरा पुलिस स्टेशन पर एक आतंकवादी हमला हुआ था. इसमें एक सब इंस्पेक्टर शहीद हो गए, जबकि एक एसपीओ गंभीर रूप से घायल हो गए थे. इस कार्रवाई मे एक आतंकवादी भी मारा गया. आतंकी ने आईएस की काले रंग की टीशर्ट पहन रखी थी.

आईएस की वेबसाइट एहमाक ने हमले के एक दिन बाद दावा किया कि जकूरा में पुलिस स्टेशन पर उसने हमला कराया था.
कुछ दिन पहले ही सोशल मीडिया पर एक मैसेज वायरल हुआ था जिसके मुताबिक दुनिया में इंसानियत के लिए खतरा बन चुके आतंकी संगठन आईएसआईएस ने भारत में भी अपनी जड़ें जमा ली हैं. ट्विटर पर एक वीडियो जारी कर कहा गया था कि के कश्मीर में इस आतंकी संगठन का पहला ग्रुप तैयार हो गया है.

इस बारे मे डीजीपी ने यह भी कहा कि मुझे नहीं लगता कि कश्मीर में आईएसआईएस की किसी भी तरह की कोई मौजूदगी है. ऐसी खबरें भी सामने आई थीं कि आतंकी संगठनों ने सोशल मीडिया पर कश्मीर के युवाओं को बहला-फुसलाकर आतंकी बनाने का अभियान छेड़ा है.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY