आनंद ने विश्‍व ब्लिट्ज शतरंज चैम्पियनशिप में जीता कांस्य पदक

रियाद। विश्वनाथन आनंद ने दो दिन पहले रैपिड वर्ग में स्वर्ण पदक जीतने के बाद शानदार फार्म को जारी रखते हुए विश्व ब्लिट्ज शतरंज चैम्पियनिशप में कांस्य पदक अपने नाम किया। ब्लिट्ज वर्ग में पहले दिन निराशाजनक शुरूआत के बाद उन्होंने अंतिम दिन फ्रांस के मैक्सिम वाचियर लाग्रेव पर जीत दर्ज दर्ज की। पहले दिन उन्हें रूस के इयान नेपोमनियाच्ची से हार का मुंह देखना पड़ा था।

नार्वे के विश्व क्लासिकल चैम्पियन मैग्नस कार्लसन ने फिर खुद को साबित करते हुए अंतिम दिन जीत दर्ज कर इसे जीत लिया। फाइनल दिन से पहले कार्लसन के 11 दौर के बाद सात अंक थे और इस चैम्पियन ने अंतिम दिन 10 में से नौ अंक जीतकर कुल 16 अंक जुटा लिये। आनंद के भी सात अंक थे लेकिन अंतिम 10 गेम में वह 7.5 अंक जुटा सके जिससे वह रूस के सरगेई कारजाकिन के साथ संयुक्त रूप से दूसरे स्थान पर आ गये।

कारजाकिन अंतिम दिन केवल 5.5 अंक ही जुटा सके जिससे उनके कुल अंक आनंद की तरह 14.5 रहे। लेकिन आनंद का यह प्रयास शानदार रहा जो इस महीने के शुरू में लंदन शतरंज क्लासिक में अंतिम स्थान पर रहे थे। पांच बार के क्लासिकल वर्ग के विश्व चैम्पियन ने अपने आलोचकों को गलत साबित करते हुए साल का अंत शानदार ढंग से किया।

अन्य भारतीयों में पी हरिकृष्णा और विदित गुजराती ने अच्छा किया दोनों के 12.5 अंक रहे, बी अधिबान ने 11 जबकि सूर्य शेखर गांगुली और एस पी सेतुरमन ने 10 अंक जुटाये।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY