झांकी पर ममता के आरोपों को मेघवाल ने बताया बकवास

कोलकाता। गणतंत्र दिवस परेड समारोह में से पश्चिम बंगाल की प्रस्तावित झांकी कथित तौर पर हटाये जाने के संबंध में प्रदेश की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के आरोपों को बकवास करार देते हुए केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने यहां कहा कि चयन प्रक्रिया में केंद्र की कोई भूमिका नहीं है। पश्चिम बंगाल की झांकी को दिल्ली में होने वाले गणतंत्र दिवस परेड से हटाये जाने को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रदेश के लोगों का ‘‘अपमान’’ करार दिया था। झांकी ‘‘भाईचारे में एकता’’ थीम पर आधारित थी।

उन्होंने कहा था कि केंद्र की ओर से खारिज की गई इस झांकी को यहां 26 जनवरी को आयोजित होने वाले रेड रोड परेड में शामिल किया जाएगा। इस बारे में पूछे जाने पर केंद्रीय राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने संवाददाताओं को बताया, ‘‘झांकी का चयन करने के लिए एक कमेटी है । इस मामले में केंद्र सरकार की कोई भूमिका नहीं है । हम एक संघीय देश में हैं और हम कोई राजनीति नहीं करते हैं।’’ केंद्रीय मंत्री ने मुख्यमंत्री के उस आरोप को भी खारिज कर दिया जिसमें उन्होंने कहा था कि केंद्र सरकार ने विभिन्न परियोजनाओं के लिये धन देना बंद कर दिया है।

मंत्री ने कहा, ‘‘वह (ममता) क्यों निराधार आरोप लगा रही हैं। केंद्र सरकार हिस्सेदारी वाली योजनाओं के लिए फंड जारी करती है । इसमें 60 फीसदी वित्तपोषण केंद्र करता है जबकि 40 प्रतिशत धन राज्य देता है। यह तरीका बहुत पहले बनाया गया था और इसमें कोई बदलाव नहीं किया गया है।’’ उन्होंने बताया कि नरेंद्र मोदी सरकार विकास और सुशासन पर जोर जारी रखेगी। तीन तलाक विधेयक के मामले में मेघवाल ने कहा कि इससे मुस्लिम महिलाओं के सशक्तिकरण को बढ़ावा मिलेगा।’’ अखिल भारतीय मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड के विधेयक के वापस लेने के आग्रह पर उन्होंने कहा, ‘‘तीन तलाक विधेयक को लाया जाना चाहिए।’’

उन्होंने कहा, ‘‘महिलाओं के मसले को हिंदू और मुस्लिम समुदाय के आधार पर विभाजित नहीं किया जाना चाहिए । जो लोग ऐसा कर रहे हैं वह महिलाओं के साथ अन्याय कर रहे हैं।’

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY