विवादित सुरक्षा उपाय आतंकी हमलों के डर के कारण: ट्यूनिशिया

ट्यूनिश। खाड़ी के देश की यात्रा करने करने की कोशिश करने वाली ट्यूनिशियाई महिलाओं के लिए संयुक्त अरब अमीरात की ओर से लिए गए विवादित सुरक्षा उपाय के बारे में ट्यूनिशिया का कहना है कि यह कदम आतंकवादी हमलों के डर से उठाया गया है। यूएई के विमान में सवार होने वाली ट्यूनिशिया की महिलाओं एवं लड़कियों को घंटों इंतजार करवाया जा रहा है, जिससे इस उत्तर अफ्रीकी देश में घमासान मचा है और अमीरात एयरलाईन के ट्यूनिश जाने वाले विमान की सेवा अस्थायी रूप से रोक दी गई है।

ट्यूनिशिया के राष्ट्रपति की प्रवक्ता सईदा गैराक ने एक निजी रेडियो को बताया, ‘‘संयुक्त अरब अमीरात के अधिकारियों को संभावित आतंकवादी हमलों के बारे में गंभीर जानकारी है।’’ गैराक ने कहा कि सीरिया और इराक से जिहादियों के वापस लौटने के साथ ही आतंकवादी हमले की प्रबल संभावना की सूचना है और इसमें या तो ट्यूनिशियाई महिला अथवा ट्यूनिशियाई पासपोर्ट लेकर चलने वाली महिला शामिल हो सकती हैं।’’

उन्होंने कहा कि यह भी हो सकता है कि वह फर्जी पहचान पत्र का भी इस्तेमाल करें। प्रवक्ता ने कहा कि संयुक्त अरब अमीरात के अमीरेट्स एयरलाइन को अपने विमानों तक ट्यूनिशियाई महिलाओं की पहुंच रोकने का ‘‘स्पष्ट निर्देश’’ दिया गया है। यात्रियों ने बताया कि एयरलाईन के कर्मचारियों ने केवल इतना कहा है कि वे सभी महिलायें जिनके पास ट्यूनिशिया का पासपोर्ट है, संयुक्त अरब अमीरात जाने के लिए अधिकृत नहीं हैं।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY