सरकारी कर्मचारियों को शेयर में निवेश के लिये स्वतंत्रता नहीं दे रही सरकार

नयी दिल्ली। केन्द्र सरकार के कर्मचारियों को शेयर बाजार में निवेश करने की और ज्यादा स्वतंत्रता देने का कोई प्रस्ताव सरकार के विचाराधीन नहीं है। कार्मिक राज्यमंत्री जितेन्द्र सिंह ने जानकारी दी है। मौजूदा कानून सरकारी कर्मचारियों को शेयर बाजार अथवा अन्य निवेशों में सट्टेबाजी (बार बार खरीद, बिक्री अथवा दोनों) करने से रोकता है।

उन्होंने एक प्रश्न के लिखित उत्तर में राज्यसभा को सूचित किया, ‘‘मौजूदा समय में केन्द्र सरकार के कर्मचारियों को शेयर बाजार: वित्तीय बाजार के उत्पादों में निवेश की व्यापक स्वतंत्रता देने संबंधी कोई प्रस्ताव सरकार के विचाराधीन नहीं है।’’

केन्द्र सरकार के कर्मचारियों से जुड़े मौजूदा नियम उन्हें अथवा उनकी तरफ से उनके किसी पारिवारिक सदस्य को सट्टा बाजारों में निवेश की अनुमति नहीं देते हैं। इसका उनके आधिकारिक कामकाज पर असर पड़ सकता है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY