सुशील कुमार मोदी ने किया लालू प्रसाद और उनके समर्थकों पर प्रहार

पटना। बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने यह आरोप लगाने के लिए आज लालू प्रसाद और उनके समर्थकों पर प्रहार किया कि राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के प्रमुख को इसलिए निशाना बनाया जा रहा है क्योंकि वह पिछड़ी जाति हैं। रांची की एक विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाला मामले में प्रसाद और 15 अन्य को कल दोषी ठहराया जबकि बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा समेत छह अन्य व्यक्तियों को बरी कर दिया।

सुशील ने ट्वीट किया, ‘‘खजाने से 89.4 लाख रुपये अवैध रुपये निकालने के मामले में दोषी ठहराये जाने पर लालू प्रसाद भ्रष्टाचार को लेकर सातवीं बार जेल गये हैं। लेकिन वह अपनी तुलना नेल्सन मंडेला और मार्टिन लूथर किंग जैसे नेताओं से कर रहे हैं। ’’ वह राजद सुप्रीमो को कल दोषी ठहराये जाने के शीघ्र बाद उनके द्वारा किये गये इस ट्वीट की ओर इशारा कर रहे थे कि, ‘‘यदि नेल्सन मंडेला, मार्टिन लूथर किंग, बाबा साहब अंबेडकर जैसे लोग अपने प्रयासों में विफल हो जाते तो इतिहास उन्हें खलनायक समझता।

वे अब भी पक्षपाती, नस्लवादी और जातिवादी मानसिकता वालों के लिए खलनायक हैं। किसी को भी भिन्न बर्ताव की आस नहीं करनी चाहिए। ’’ वरिष्ठ भाजपा नेता ने कहा, ‘‘आश्चर्य है कि ऐसे लोगों द्वारा किस प्रकार का नेतृत्व प्रदान किया जाता है जो खुलेआम अपनी प्रशंसा और अवैध संपत्ति अर्जित करने में लगे रहते हैं। ’’ चारा घोटालों में विभिन्न याचिकाकर्ताओं में सुशील मोदी एक हैं। उन्हीं की याचिका पर पटना उच्च न्यायालय ने 1996 में चारा घोटाला मामले की सीबीआई जांच का आदेश दिया था।

सुशील मोदी ने कहा, ‘‘जो 16 लोग दोषी ठहराये गये हैं, उनमें आठ (50 फीसद)ऊंजी जातियों के हैं। बरी किये गये लोगों में चार (50फीसद)दलित या पिछड़े वर्ग हैं। राजद समर्थक इन तथ्यों से मुंह मोड़ रहे हैं और न्यायपालिका पर जातिवादी होने का आरोप लगा रहे हैं। ’’ मोदी ने राजद उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी पर भी प्रहार किया।

तिवारी उच्च न्यायालय में दायर की गयी जनहित याचिका में सह याचिकाकर्ता हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले नीतीश कुमार के जदयू से निष्कासन के बाद तिवारी ने सक्रिय राजनीति से संन्यास की घोषणा की थी लेकिन वह हाल ही में राजद से जुड़ गये।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY