योगी आदित्यनाथ के आवास के बाहर सेल्फी लेना दंडनीय अपराध! पुलिस ने लगाया चेतावनी बोर्ड, बाद में हटाया

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बंगले की ओर जाने वाली सड़क के साथ पुलिस ने सेल्फी लेने पर रोक लगाई है. योगी आदित्यनाथ के निवास की ओर जाने वाली सड़क कालीदास मार्ग जहां से शुरू होती है वहां मोड़ पे लगे गेट पर सेल्फी न लेने को लेकर चेतावनी देने वाला बोर्ड पुलिस ने लगा दिया था. लेकिन सोशल मीडिया पर इस पर प्रतिक्रियाएं आने के बाद इसे हटा दिया गया था. इस बोर्ड पर लिखा हुआ था कि इस वीआईपी एरिया में फोटो खींचना और सेल्फी लेना दंडनीय अपराध है. इसलिए ऐसा करते हुए पकड़े जाने पर सख्त कार्यवाही की जाएगी.

इसी बीच बता दें यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने भी इस  बीच ट्वीट करके कहा था- नए साल में जनता को उत्तर प्रदेश सरकार का तोहफा, सेल्फी लेने पर लग सकता है यूपीकोका! बता दें कि अखिलेश ने यूपीकोका को लेकर अपने एक और ट्वीट में कल सरकार को आड़े हाथों लिया. उन्होंने ट्वीट किया- यूपीकोका नहीं ये धोखा है. फर्नीचर साफ करने के पाउडर को PETN विस्फोटक बताने वाले जनता को बहकाने में माहिर हैं. 9 महीनों में बीजेपी ने जन सुरक्षा से खिलवाड़ करते हुए न सिर्फ समाजवादी ‘यूपी100’ और महिला सुरक्षा की ‘1090हेल्पलाइन’ को बल्कि समाजवादी विकास पथ पर बढ़ते प्रदेश को रोका है.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY