मुंबई तट से दूर पवनहंस का हेलिकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त, चार शव बरामद

मुंबई। पवनहंस का एक हेलिकॉप्टर मुंबई हाई में एक तेल रिग की ओर जाने के दौरान नगर तट से दूर दुर्घटनाग्रस्त हो गया। चार शव बरामद कर लिये गए हैं। हादसे के वक्त हेलिकॉप्टर में ओएनजीसी के पांच कर्मी और दो पायलट सवार थे। तट रक्षक के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जुहू एयरोड्रम से सुबह साढ़े दस बजे उड़ान भरने के बाद हेलिकॉप्टर डॉफिन एन 3 लापता हो गया था। तट रक्षक के एक प्रवक्ता ने बताया, ‘‘तटरक्षक इस बात की पुष्टि करता है कि उसके जहाजों ने मुंबई तट से दूर जिस स्थान पर पवनहंस हेलिकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हुआ, वहां से तीन शव बरामद किये हैं।’’

हेलिकॉप्टर की पंजीकरण संख्या वीटी-पीडब्ल्यूए थी। हेलिकॉप्टर को सुबह 11 बजे मुंबई हाई में एक तेल रिग में उतरना था। सरकारी स्वामित्व वाले तेल एवं प्राकृतिक गैस निगम :ओएनजीसी: के पांच कर्मचारी और दो पायलट हेलिकॉप्टर में सवार थे। नौसेना ने कहा कि उसने तलाश अभियान के लिये स्टील्थ फ्रिगेट आईएनएस तेग को तैनात किया है जबकि निगरानी विमान पी8आई को भी सेवा में लगाया गया है। तट रक्षक ने अपने जहाजों को भी लापता हेलिकॉप्टर की तलाश में लगा दिया है।

नागरिक उड्डयन महानिदेशालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पवनहंस हेलिकॉप्टर दुर्घटना मामले की जांच विमान दुर्घटना जांच इकाई एएआईबी करेगी। अधिकारी ने कहा, ‘‘चूंकि यह स्पष्ट रूप से एक दुर्घटना है इसलिये हेलिकॉप्टर दुर्घटना की जांच विमान दुर्घटना जांच ब्यूरो (एएआईबी) करेगी।’ उन्होंने कहा कि डीजीसीए जांच करने में एएआईबी को हरसंभव मदद प्रदान करेगी।

एएआईबी वह शीर्ष इकाई है जो भारत में पंजीकृत विमानों से संबंधित गंभीर घटनाओं और दुर्घटनाओं की जांच करती है। यह नागरिक उड्डयन मंत्रालय के अंतर्गत आता है। उन्होंने ट्विटर पर कहा, ‘‘इंडियाकोस्ट गार्ड का जहाज सूचना मिलने पर उस स्थान पर पहुंचा और मलबा को ढूंढा और साढ़े बारह बजे एक शव बरामद किया।’’ उन्होंने अपने ट्वीट में कहा ‘‘अब तक तीन शव बरामद किये गए हैं। तलाश एवं बचाव अभियान चल रहा है। विमान दुर्घटना जांच ब्यूरो विस्तृत जांच करेगा।’’

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY