दृष्टिहीन संगीतकार का किरदार निभाना आसान नहीं था : आयुष्मान खुराना

मुंबई। ‘‘पानी दा रंग’’, ‘‘नज्म नज्म’’ और ‘‘मिट्टी दी खुश्बू’’ जैसे लोकप्रिय गानों से आयुष्मान खुराना भले ही अपनी गायन प्रतिभा प्रमाणित कर चुके हों, लेकिन अपनी आगामी फिल्म में एक दृष्टिहीन संगीतकार का किरदार निभाना उनके लिये आसान नहीं रहा। अभिनेता ने कहा कि निर्देशक श्रीराम राघवन ने उन्हें फिल्म में लिया है, क्योंकि संगीत उनके और फिल्मी जीवन का अभिन्न अंग है।

खुराना ने कहा, ‘‘ इस किरदार को निभाना आसान नहीं था। मुझे संगीत के बारे में पता है। मैं गिटार बजा सकता हूं, लेकिन शुरुआत पिआनो सीखने से की…. मैंने इसे सीखने में काफी समय दिया।’’ उन्होंने बताया कि राघवन, जो उन्हें पहली बार निर्देशित कर रहे थे, को लगता था कि साथ में उत्साह से काम करने से चीजें आसान हो जाती है।

उन्होंने बताया, ‘‘श्रीराम सर कलाकारों से बहुत अधिक अपेक्षा रखते हैं। वह आपको एक स्थिति और परिवेश देंगे और आपसे इस पर प्रतिक्रिया करने के लिये कहेंगे और यह बहुत अद्भुत होता है। मैं रंगमंच की पृष्ठभूमि से हूं इसलिये इस सबमें मजा आता है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY