ओरिएंट सीमेंट ने जेपी की दो इकाइयों के अधिग्रहण के लिये रद्द किया समझौता

नयी दिल्ली। सीके बिरला समूह की कंपनी ओरिएंट सीमेंट ने जेपी समूह की दो इकाइयों भिलाई जेपी सीमेंट तथा मध्य प्रदेश के सिंगरौली में स्थित निग्री सीमेंट ग्राइडिंग इकाई के अधिग्रहण को लेकर समझौता रद्द कर दिया है। यह सौदा 1,946 करोड़ रुपये का था। पिछले साल 31 मई को ओरिएंट सीमेंट ने भिलाई जेपी सीमेंट लि. में 74 प्रतिशत हिस्सेदारी के अधिग्रहण को लेकर जयप्रकाश एसोसिएट्स लि. (जेएएल) के साथ शेयर खरीद समझौता किया था।

ओरिएंट सीमेंट ने व्यापार हस्तांतरण समझौते (बीटीए) पर भी जयप्रकाश पावर वेंचर्स लि. (जेपीवीएल) तथा जेएएल के साथ हस्ताक्षर किये। यह समझौता निग्री सीमेंट ग्राइंडिंग इकाई के अधिग्रहण के लिये था। ओरिएंट सीमेंट ने नियामकीय सूचना में कहा, ‘शेयर खरीद समझौता (एसपीए) तथा व्यापार हस्तांतरण समझौता के तहत अगर एसपीए तथा बीटीए करने के बाद इसका क्रियान्वयन 12 महीने में पूरा नहीं होता है तो कोई भी पक्ष इसे रद्द कर सकता है।’

चूंकि समझौता 12 महीने की अवधि में क्रियान्वित नहीं हुआ, कंपनी ने दूसरे पक्ष को नोटिस देते हुए शेयर खरीद समझौता और व्यापार हस्तांतरण समझौते को रद्द कर दिया। छत्तीसगढ़ में स्थित भिलाई जेपी सीमेंट की सीमेंट उत्पादन क्षमता 22 लाख टन है। वित्त वर्ष 2015-16 में कंपनी का कारोबार 399.27 करोड़ रुपये था। निग्री सीमेंट ग्राइंडिंग इकाई की उत्पादन क्षमता 20 लाख टन है और 2015-16 में इसका करोबार 90.70 करोड़ रुपये था।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY