भारी बारिश के बीच अमरनाथ तीर्थयात्रियों का तीसरा जत्था रवाना

जम्मू। जम्मू – श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर बारिश से यातायात अवरुद्ध होने के बीच 2876 तीर्थयात्रियों का तीसरा जत्था आज यहां से अमरनाथ गुफा मंदिर में दर्शन के लिए कश्मीर घाटी के आधार शिविरों की ओर रवाना हो गया। अधिकारियों ने कहा कि सुबह करीब 6:30 बजे कड़ी सुरक्षा के बीच तीर्थयात्री 90 वाहनों के काफिले में भगवती नगर आधार शिविर से रवाना हुए। इस दौरान बारिश हो रही थी। पिछले तीन दिन से जम्मू कश्मीर के बड़े हिस्से में बारिश हो रही है।

अधिकारियों के मुताबिक बनिहाल-उधमपुर सेक्टर में भारी बरिश से पंथाल, नेदगार्ड, डिगडोल और समरोली में आज सुबह भूस्खलन की घटनाएं हुईं। पत्थर गिरने से 260 किलोमीटर लंबा राजमार्ग अवरुद्ध हो गया। हालांकि संबंधित एजेंसियों ने जवानों और मशीनों को लगाकर सुबह करीब 9:15 बजे यथासंभव कम से कम समय में रास्ते साफ कराये। इससे फंसे हुए वाहन अपने गंतव्यों की ओर बढ़ सके।राजमार्ग अवरूद्ध होने से जगह जगह जाम लग गया और वाहनों की सुगम आवाजाही के लिए प्रयास जारी है।

दो महीने तक चलने वाली अमरनाथ यात्रा कल शुरू हुई थी और 1000 से अधिक लोगों के पहले जत्थे ने बर्फ से प्राकृतिक रूप से बनने वाले शिवलिंग के दर्शन किये। अधिकारियों ने कहा कि आज तीर्थयात्रियों को सड़क मार्ग से जाने की मंजूरी मिलने के बाद ही जाने दिया गया और वे आज शाम तक आधार शिविरों में पहुंच सकते हैं। आज रवाना हुए तीसरे जत्थे में कोई साधु और बच्चे नहीं हैं। इनमें से 315 महिलाओं समेत 2032 तीर्थयात्रियों ने परंपरागत 36 किलोमीटर लंबा पहलगाम मार्ग चुना, वहीं 229 महिलाओं समेत 844 लोगों ने 12 किलोमीटर लंबे बालटाल मार्ग को चुना।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY