रवि शंकर प्रसाद ने भारतीयों के डेटा के दुरुपयोग के प्रति आगाह किया

नयी दिल्ली। सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने आज कंपनियों द्वारा चुनावी प्रक्रिया में हेराफेरी के लिए भारतीयों के डेटा (जानकारी) के किसी दुरुपयोग के प्रति आगाह किया है। प्रसाद का कहना है कि सरकार डेटा के किसी ‘हेरफेर या दुरुपयोग’ के प्रयास को स्वीकार नहीं करेगी। प्रसाद का यह बयान ऐसे समय में आया है जबकि देश में अगले साल आम चुनाव होने हैं। डेटा विश्लेषक कंपनियों आम चुनावों के दौरान डेटा का दुरुपयोग नहीं कर पाएं यह सुनिश्चित करने के लिए सरकार द्वारा उठाए जाने वाले कदमों के बारे में प्रसाद ने कहा, ‘मैं डेटा विश्लेषण में लगी सभी कंपनियों को यह बहुत स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि डेटा के दुरुपयोग के जरिए भारत के चुनावों को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से प्रभावित करने के किसी प्रयास को स्वीकार नहीं किया जाएगा।’

प्रसाद ने बीते चार साल में अपने मंत्रालयों की उपलब्धियों के बारे में यहां संवाददाताओं को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि भारत को अपनी लोकतांत्रिक प्रक्रिया पर ‘गर्व’ है और इससे ‘गड़बड़ी’ के किसी भी प्रयास को स्वीकार नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया अभियान तो ठीक है लेकिन उनके जरिए ‘ डेटा में हेरफेर या दुरुपयोग ’ से चुनावी प्रक्रिया को प्रभावित करने की कोशिश नहीं होनी चाहिए।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY