शहीद औरंगजेब के घर पहुंचीं रक्षामंत्री, DGP वैद्य ने कहा- नहीं बचेंगे आतंकी

रक्षामंत्री निर्मला सितारमण आज पुंछ में शहीद जवान औरंगजेब के गांव उनके परिजनों से मिलने पहुंची। रक्षा मंत्री आज कश्मीर के ताजा हालात का जायजा लेने वहां पहुंचीं है। इस बीच जम्मू-कश्मीर DGP एसपी वैद्य ने कहा है कि आतंक फैलाने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्यपाल शासन लगने के बाद आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन तेज करेंगे।

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज उस जवान के परिवार से मुलाकात की जिसकी आतंकवादियों ने ईद से दो दिन पहले अपहरण करके हत्या कर दी थी। निर्मला ने जवान को देश के लिए एक प्रेरणा बताया। अधिकारियों ने बताया कि रक्षा मंत्री के साथ सेना के वरिष्ठ अधिकारी भी थे। निर्मला सीमांत पुंछ जिले के सलानी गांव गईं और शहीद जवान औरंगजेब के पिता सहित परिवार से मुलाकात की।

औरंगजेब के पिता एक पूर्व सैन्यकर्मी हैं और उन्होंने देश की अखंडता और संप्रभुता की रक्षा के लिए अपना सब कुछ न्यौछावर करने का अपना संकल्प दोहराया। निर्मला ने कहा, ‘‘मैं यहां शहीद के परिवार से मिलने आयी थी।’’ उन्होंने औरंगजेब के बारे में कहा कि वह समूचे देश के लिए एक प्रेरणा हैं और यही संदेश मैं यहां से लेकर जा रही हूं। 44 राष्ट्रीय राइफल्स में तैनात औरंगजेब ईद मनाने के लिए अपने घर जा रहे थे, 14 जून को आतंकवादियों ने दक्षिण कश्मीर में उनका अपहरण कर लिया और उसी दिन उनकी हत्या कर दी। वह शोपियां जाने के लिए एक निजी वाहन में सवार हुए थे जहां से उन्हें रजौरी जिले जाना था।

आतंकवादियों ने कलामपोरा पहुंचने पर वाहन को रोक लिया और जवान का अपहरण कर लिया। पुलवामा जिले के कलामपोरा से करीब 10 किलोमीटर दूर गुस्सू गांव में उनका शव मिला। आतंकवादियों ने उनकी गोली मारकर हत्या कर दी थी। शहीद के परिवार से रक्षा मंत्री की इस मुलाकात से दो दिन पहले सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने औरंगजेब के परिवार से मुलाकात की थी और वह शहीद जवान के अभिभावकों के साथ करीब आधे घंटे रहे थे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY