18 जून से फिर हड़ताल पर जाने की तैयारी कर रहा पटवारी संघ

भोपाल । मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान से हुई चर्चा का कोई सार्थक परिणाम नहीं निकलने से निराश मध्यप्रदेश पटवारी संघ एक बार फिर हड़ताल पर जाने की तैयारी कर रहा है। यदि शासन की ओर से संघ की मांगों के संबंध में कोई स्पष्ट आश्वासन नहीं मिलता है, तो संघ के सदस्य 18 जून से फिर हड़ताल पर जा सकते हैं।

मध्यप्रदेश पटवारी संघ के प्रांतीय महामंत्री कोदरसिंह मौर्य ने बताया कि पटवारी संघ अपनी जायज मांगों के लिए लंबे समय से संघर्ष कर रहा है। इसी सिलसिले में संघ ने 18 मई से हड़ताल पर जाने का फैसला किया था। संघ के निर्णय के अनुसार प्रदेश के आधे से अधिक पटवारियों ने अतिरिक्त हल्कों के बस्ते तहसील कार्यालय में जमा करा दिए थे। लेकिन इसी बीच संघ के प्रतिनिधियों को मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान से चर्चा का आमंत्रण मिला, जिसके चलते हड़ताल वापस ले ली गई थी। मुख्यमंत्री से संघ के प्रतिनिधियों की वल्लभवन में चर्चा भी हुई। लेकिन अभी तक इस चर्चा का कोई सार्थक परिणाम नजर नहीं आ रहा है। शासन की ओर से पटवारी संघ की मांगों के संबंध में घोषणा या आश्वासन का इंतजार करते-करते संघ के सदस्य निराश होने लगे हैं। यदि जल्द ही शासन की ओर से कोई पहल नहीं की जाती है, तो संघ 18 जून से संपूर्ण रूप से काम बंद हड़ताल करेगा।

कमिश्नर की कार्रवाई पर पटवारियों में आक्रोश: संगठन के महामंत्री कोदरसिंह मौर्य ने बताया कि कमिश्नर नर्मदापुरम संभाग द्वारा होशंगाबाद जिले की श्योपुर सर्किल के ग्वाड़ी घाट में पदस्थ पटवारी रामभरोस भिलाला को अकारण निलंबित कर दिया गया है। संघ ने पटवारी का निलंबन समाप्त करने की मांग की है। इसके साथ ही क्षेत्र की चार पंचायतों के सरपंच भी इसी मांग को लेकर मुख्यमंत्री को पत्र भी लिख रहे हैं। उन्होंने कहा कि यदि पटवारी का निलंबन रद्द नहीं किया जाता है, तो संघ हाईकोर्ट की शरण में जाएगा।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY