आध्यात्मिक नेता के हैदराबाद में प्रवेश पर छह महीने का प्रतिबंध

हैदराबाद। अपनी प्रस्तावित धर्माग्रह यात्रा से पहले यहां नजरबंद रखे गये एक आध्यात्मिक को उनके कथित उकसावे वाले बयानों के कारण छह महीने के लिए शहर से निर्वासित कर दिया गया है। पुलिस ने बताया कि काकीनाडा की श्री पीठम के स्वामी परिपूर्णानंद को तेलंगाना के समाज- विरोधी और खतरनाक क्रियाकलाप रोकथाम कानून के तहत अगले छह महीने के लिए हैदराबाद शहर से निर्वासित कर दिया गया है।

हैदराबाद के पुलिस आयुक्त अंजनी कुमार ने बताया, ‘‘ हां … उन्हें छह महीने के लिए हैदराबाद शहर से निर्वासित कर दिया गया है। स्वामी को उनकी पदयात्रा से पहले नौ जुलाई को यहां जुबली हिल्स में एक रियल स्टेट कंपनी के स्वामित्व वाले घर में नजरबंद कर लिया गया था। ऐसा हालिया बयानों और सोशल मीडिया और इलेक्ट्रानिक मीडिया पर हिन्दू देवी – देवताओं के खिलाफ अभियानों के विरुद्ध उनकी पदयात्रा से पहले किया गया।

निर्वासन कार्रवाई के तहत स्वामी को शहर से बाहर कर दिया गया। एक अन्य वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि राज्य के विभिन्न कार्यक्रमों और बैठकों में दिये गये उनके कथित उत्तेजक वक्तव्यों पर आदेश जारी किया गया।

स्वामी परिपूर्णानंद ने हाल ही में तेलगू अभिनेता और फिल्म समीक्षक काति महेश के हिन्दू देवी – देवताओं के खिलाफ कथित बयानों को लेकर उनकी गिरफ्तार की मांग की थी। उन्होंने कहा था कि काति ने हिन्दुओं की भावनाओं को ‘ आहत ’ किया है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY