नौकरी मांगने के बजाय रोजगार देने वाले बनें युवा: मनोज सिन्हा

गाजीपुर (उ.प्र.)। रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने आज युवाओं का आह्वान किया कि वे अपने अंदर के कौशल को विकसित कर रोजगार मांगने की जगह रोजगार देने वाले बने। सिन्हा ने गाजीपुर जिला मुख्यालय के आसमानी चक गांव में एरिक्सन कंपनी के कौशल विकास केन्द्र का आज यहां उद्घाटन करने के बाद कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने युवाओं की प्रतिभा को निखार कर उन्हें नौकरी मांगने वाले की जगह नौकरी देने वाला बनाने के लिए अलग कौशल विकास मंत्रालय बनाया है।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने स्टार्ट अप, स्टैंड अप और मुद्रा योजना चलाकर युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में बड़ा कदम उठाया है और युवाओं का आवाहन है कि वे रोजगार मांगने की जगह उद्यमी बनकर दूसरों को रोजगार उपलब्ध करायें।

सिन्हा ने कहा कि आज विश्वस्तर की एरिक्सन टेलीकॉम कंपनी ने भारत के महानगरों से हटकर गाजीपुर की ओर रुख किया जो पूर्वी उत्तर प्रदेश के युवाओं के लिए शुभ संकेत है। ‘‘यह कंपनी चीन से अपने उत्पादों का निर्यात करती थी। लेकिन अब खुशी है कि भारत के पूना से तीन माह के भीतर कंपनी के उत्पादों का निर्यात होने लगेगा।’’

कंपनी के प्रबंध निदेशक मियांजो ने कहा कि सिन्हा के प्रयास से उनकी कंपनी ने गाजीपुर में कौशल विकास केंद्र स्थापित किया। यहां कंप्यूटर हार्डवेयर और कंप्यूटर का तकनीकी प्रशिक्षण देकर युवाओं को इस लायक बनाया जाएगा कि वह चाहे तो नौकरी करने की जगह अपना उद्यम चला सकें।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY