वोक्स की शतकीय पारी से इंग्लैंड को बड़ी बढ़त, भारत पर बढ़ा हार का खतरा

लंदन। हरफनमौला क्रिस वोक्स के पहले टेस्ट शतक और जानी बेयरस्टॉ (93) के साथ उनके 189 रन की साझेदारी से इंग्लैंड ने दूसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन खराब रोशनी के कारण खेल के समापन पर 81 ओवर में छह विकेट पर 357 रन बना कर मैच पर अपनी पकड़ बेहद मजबूत बना ली है। स्टंप्स के समय क्रिस वोक्स 120 और सैम कुरेन 22 रन बना कर क्रीज पर मौजूद थे। इंग्लैंड ने पहली पारी के आधार पर अब तब 250 रन की बढ़त ले ली है और उसके चार विकेट शेष हैं। इससे पहले भारतीय टीम दूसरे दिन 107 रन पर आल आउट हो गयी।

बेन स्टोक्स की जगह टीम में शामिल हुए वोक्स ने अपनी वापसी का जश्न नाबाद शतक से बनाया। उन्होंने 159 गेंद की अपनी नाबाद पारी में 18 चौके लगाये। वोक्स और बेयरस्टॉ की साझेदारी के समय भारतीय गेंदबाजी बेअसर नजर आयी। दोनों ने 219 गेंद में 150 रन की साझेदारी पूरी की और ऐसा लग रहा था की दोनों बल्लेबाज अपना शतक पूरा करेंगे लेकिन हार्दिक पंड्या (66 रन पर दो विकेट) की गेंद पर बेयरस्टॉ गच्चा खा गये और विकेट के पीछे कार्तिक ने शानदार कैच लपक कर उनकी 93 रन पारी का अंत किया। उन्होंने 144 गेंद की पारी में 12 चौके लगाये।

इससे पहले भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी (74 रन पर तीन विकेट) के दोहरे झटके से लंच तक इंग्लैड के 89 रन पर चार विकेट गिर गये थे। लंच से पहले आखिरी गेंद पर भारत को जो रूट (19) के रूप में बड़ी सफलता मिली जिन्हें शमी ने पगबाधा आउट किया। लंच के बाद बेयरस्टॉ और जोस बटलर (24) ने 42 रन की साझेदारी की। मोहम्मद शमी और इशांत शर्मा (88 रन पर एक विकेट) की सटीक गेंदबाजी के बावजूद इंग्लैंड ने 27वें ओवर में 100 रन पूरे किये।

दोनों बल्लेबाजों को भारतीय तेज गेंदबाजों ने काफी परेशान किया। इस दौरान बेयरस्टॉ ज्यादा असहज दिखे जिनके बल्ले पर गेंद ने कई बार अंदरूनी किनारा लिया लेकिन वह विकेट से नहीं टकराई। शमी ने 32वें ओवर में बटलर को पगबाधा कर भारत की वापसी करायी। लेकिन इसके बाद बेयरस्टॉ और वोक्स ने भारतीय गेंदबाजों को ज्यादा मौके नहीं दिये। इस बीच बेयरस्टॉ ने अपनी पारी की 76वें गेंद में करियर का 19वां टेस्ट अर्धशतक पूरा किया जबकि वोक्स ने अपना पांचवां अर्धशतक पूरा करने के लिये 71 गेंदों का सामना किया।

इंग्लैंड ने 49वें ओवर में 200 रन पूरे किये। भारतीय स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और कुलदीप यादव प्रभाव छोड़ने में नाकाम रहे। मैच का पहला दिन बारिश की भेंट चढ़ गया और दूसरे दिन का खेल भी बारिश से प्रभावित रहा जिसमें सिर्फ 35.2 ओवर का खेल संभव हुआ। हालांकि, आज धूप निकलने के कारण पिच और हवा से नमी खत्म हो गयी जिससे बल्लेबाजी करना काफी आसान हो गया।

भारतीय गेंदबाजी की शुरूआत आज शमी और इशांत शर्मा ने की जिन्होंने कुछ ओवरों के बाद गेंद पर नियंत्रण बना लिया और इंग्लैंड के बायें हाथ के दोनों सलामी बल्लेबाजों को परेशान किया। शमी ने शुरूआती ओवरों में बल्लेबाजों को तंग किया तो वही इशांत ने छोर बदलने के बाद ज्यादा सटीक गेंदबाजी की।

टीम को पहली सफलता पारी के आठवें ओवर में मिली जब शमी ने कीटोन जेनिंग्स को पगबाधा आउट किया। इंग्लैंड ने अंपायर के फैसले के खिलाफ रिव्यू लिया लेकिन ये बेकार गया। इसके पांच गेंद के बाद इशांत ने एलिस्टेयर कुक को विकेट के पीछे कैच कराकर पवेलियन भेजा। इस समय इंग्लैंड का स्कोर दो विकेट पर 32 रन था। कप्तान जो रूट और पदार्पण कर रहे 20 साल के ओले पोप (28) ने पारी को संवारने की कोशिश की। इस दौरान कुलदीप यादव और हार्दिक पंड्या के पहले स्पेल में बेअसर गेंदबाजी ने भी बल्लेबाजों का काम आसान किया और इंग्लैंड ने 14वें ओवर में 50 रन पूरे किये।

पहले सत्र में भारतीय कप्तान का आर अश्विन से गेंदबाजी नहीं कराने का फैसला आश्चर्यचकित करने वाला रहा। इस बीच कोहली ने पंड्या को कुछ सलाह दी जिसके बाद उन्होंने ज्यादा आक्रामक गेंदबाजी करनी शुरू की और इसका फायदा उन्हें पोप के विकेट के रूप में मिला। पगबाधा होने से पहले पोप ने 38 गेंद की पारी में तीन चौके की मदद से 28 रन बनाये उन्होंने रूट के साथ 45 रन की साझेदारी भी की। इससे पहले कल जेम्स एंडरसन ने 20 रन देकर पांच विकेट लिये जिससे बारिश से प्रभावित दूसरे दिन भारतीय पारी 107 रन पर सिमट गयी। इंग्लैंड पांच मैचों की श्रृंखला में 1-0 से आगे है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY