स्वास्थ्य मंत्रालय की घोषणा, तीन नए तंबाकू नशामुक्ति कॉल सेंटर की होगी स्थापना

पणजी। स्वास्थ्य मंत्रालय के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि देश की भाषाई विविधताओं को ध्यान में रखते हुए सरकार जल्द तीन नए तंबाकू नशामुक्ति कॉल सेंटर खोलेगी। संशोधित तम्बाकू उत्पाद पैकेजिंग नियम एक सितंबर से लागू होंगे और तब तक ये कॉल सेंटर भी काम करना शुरू कर देंगे।

दक्षिण गोवा में ‘राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण नेतृत्व कार्यक्रम’ के पहले दिन लोगों को संबोधित करते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव विकास शील ने कहा, ‘‘दिल्ली में हमारा एक कॉल सेंटर है जिसे वर्ष 2016 में शुरू किया गया था। जल्द तीन नए कॉल सेंटर शुरू किए जाएंगे, जिसपर काम चल रहा है। उन्हें सितंबर तक शुरू करने की योजना है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ये नए कॉल सेंटर मुंबई (टाटा मेमोरियल हॉस्पिटल), बेंगलुरू (मानसिक स्वास्थ्य एवं तंत्रिका-विज्ञान का राष्ट्रीय संस्थान) और गुवाहाटी (डॉ भुवनेश्वर बरुआ कैंसर संस्थान) में खोले जाएंगे। इनमें विभिन्न भाषाई जरूरतों पर ध्यान दिया जाएगा क्योंकि हर व्यक्ति हिंदी या अंग्रेजी नहीं बोलता।

’’शील ने कहा, ‘‘मुंबई सेंटर में मराठी और पश्चिम भारत की अन्य भाषाओं में सेवाएं दी जाएंगी, बेंगलुरू सेंटर में दक्षिण भारतीय भाषाओं और गुवाहाटी सेंटर में पूर्वोत्तर भारत की भाषाओं में सेवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।’ ‘राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण नेतृत्व कार्यक्रम’ यहां 10 अगस्त तक चलेगा जिसका लक्ष्य सिगरेट और अन्य रूपों में तंबाकू की खपत को रोकने वाले कानूनों को प्रभावी रूप से लागू करना है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY