भोपाल में अवैध कॉलोनियों को वैध बनाने की प्रक्रिया शुरू

भोपाल। भोपाल नगर निगम ने एक बार फिर अवैध कॉलोनियों को वैध बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इस चरण में न्यू राजहंस कॉलोनी ग्राम भानपुर और शांति होम कॉलोनी ग्राम पलाशी सहित कई कॉलोनियों को वैध बनाया जाएगा। इसके लिए शुक्रवार को राजहंस एवं शांति होम्स कॉलोनी के रहवासियों और कॉलोनाइजर के बीच जोन-17 के कार्यालय में नगर निगम के अधिकारियों के बीच चर्चा कर अवैध कॉलोनियों के अभिन्यासों एवं प्राकलन को अंतिम रूप दिया गया। चर्चा के दौरान रहवासियों ने अपने पक्ष में दस्तावेज भी पेश किए।

भोपाल की अवैध कॉलोनियों को वैध करने के लिए नगर निगम ने एक विस्तृत प्लान बनाया है, जिसके लिए पहले चरण में 230 में से 111 कॉलोनियों को वैध करना है। इसके लिए ले आउट और कुल खर्च का अनुमान तैयार कर लिया गया है। हालांकि इन दिनों निगम की खुद की माली हालत खस्ता है तो इन कॉलोनियों में बुनियादी सुविधाओं को उपलब्ध कराना इतना आसान भी नहीं होगा। नगर निगम द्वारा इन कॉलोनियों में सड़क, नाली, बिजली-पानी आदि की उपलब्धता के लिए विकास कार्य कराना है। इसकी वजह इन पर खर्च होने वाली भारी भरकम राशि है। मोटे तौर पर इस पर करीब 650 करोड़ रुपये का खर्च होगा। निगम इतनी बड़ी राशि की व्यवस्था कैसे करेगा, खुद इससे जुड़े अधिकारियों को नहीं पता।
दूसरे चरण में 111 कॉलोनियों को वैध किया जाना तय किया गया है। इसके लिए जनसुनवाई पूरी हो चुकी है। ले आउट और कुल खर्च का आकलन तय किया जाना बाकी है। अभी यह भी तय नहीं किया जा सका है कि वैध होने के बाद इन कॉलोनियों से कितना विकास शुल्क वसूल किया जाएगा। अधिकारियों के मुताबिक, विकास शुल्क पर फैसला जल्द ही किया जाएगा। दूसरी ओर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बीते 26 मार्च को एक कार्यक्रम में घोषणा की थी कि अवैध कॉलोनियों को 15 अगस्त तक वैध किया जाएगा, लेकिन यह अवधि अब बीत चुकी है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY