पाकिस्तानी कोच ने हार के लिए दबाव में आए बल्लेबाजों को ठहराया जिम्मेदार

दुबई। पाकिस्तान के कोच मिकी आर्थर ने भारत के खिलाफ एशिया कप मैच में बड़ी हार के लिए अपने बल्लेबाजों को दोषी ठहराते हुए कहा कि वे दबाव से नहीं निपट पाए। पाकिस्तान की शुरूआत काफी खराब रही और टीम ने तीन रन पर ही दो विकेट गंवा दिए और अंतत: पूरी टीम 162 रन पर ढेर हो गई। आर्थर ने कहा, ‘हमने अपनी भूमिका से बाहर बल्लेबाजी की जो काफी निराशाजनक है। तीसरे ओवर में भुवनेश्वर कुमार को आगे बढ़कर खेलना इमाम उल हक की भूमिका नहीं है। उठाकर मारते हुए खेलना और कैच दे देना सरफराज (अहमद) की भूमिका नहीं है। हमारे पास एक्स-फेक्टर वाले खिलाड़ी हैं जिनकी भूमिका यह है।’

कोच ने कहा, ‘अगर फखर (जमां) इस तरह खेलते हुए आउट हो जाए तो ठीक है। अगर आसिफ (अली) इस तरह आउट हो जाए तो ठीक है क्योंकि यह उनकी भूमिका है। लेकिन अन्य चार बल्लेबाजों को निश्चित तौर पर जिम्मेदारी लेनी होगी।’ आर्थर का मानना है कि यह लम्हा बल्लेबाजों पर हावी रहा। उन्होंने कहा, ‘दबाव इमाम पर हावी रहा। जैसा कि मैंने कहा वह अपनी भूमिका के इतर खेला, उसने आठ गेंद पर दो या ऐसे ही कुछ रन बनाए लेकिन फखर ने मेडन ओवर खेला था। उसने इसके तुरंत बाद गेंद को बाहर मारने का प्रयास किया लेकिन यह उसका विभाग नहीं है। मुझे लगता है कि थोड़ा दबाव था।’

गेंदबाजों पास बचाव करने के लिए अधिक स्कोर नहीं था लेकिन आर्थर ने कहा कि वे इससे बेहतर प्रदर्शन कर सकते थे। उन्होंने कहा, ‘इस तरह के विकेट पर अगर आपको स्कोर का बचाव करना है तो जल्दी विकेट चटकाने होते हैं। हम जल्दी विकेट नहीं हासिल कर पाए। गेंदबाजी में भी हम काफी जल्दी अपनी योजना से भटक गए। हमें बल्लेबाजों के लिए मुश्किल लेंथ वाली गेंदबाजी करनी थी जिसमें गेंद आफ स्टंप के ऊपर लगे। इसके बाद रन बनाना मुश्किल होता। जब वे जल्दी विकेट नहीं हासिल कर पाए तो थोड़ा डर आ गया। जब वे डरे तो अपनी योजनाओं से दूर हो गए।’ आर्थर ने कहा कि बेहतर टीम ने जीत दर्ज की और मंगलवार को हांगकांग के खिलाफ मुश्किल में फंसने के बाद विरोधी टीम अधिक जोश में थी।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY