ईव्हीएम के लिये जिलों में स्थायी स्ट्रांग रूम समय-सीमा में बनाये

भोपाल : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी व्ही.एल.कान्ता राव ने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर प्रदेश के प्रत्येक जिले में ई.व्ही.एम के लिये 65 करोड़ रुपये की लागत से स्ट्राँग रूम बनाये जा रहे है। जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा सभी जिलों में इसके लिये जमीन आबंटन कर दिया गया है और कई जिलों में निर्माण कार्य प्रारम्भ हो चुका है। लोक निर्माण विभाग को सभी जिलों में नोडल ऐजेन्सी बनाया गया है। समीक्षा बैठक में श्री राव ने लोक निमार्ण विभाग के पीआईयु के ईएनसी विजय सिंह वर्मा को निर्देशित किया की प्रदेश के 53 जगहों पर बन रहें स्ट्रांग रूम समय से पूर्व तैयार किये जायें
जिन जिलों में निर्माण पूर्ण होने का समय दिसम्बर 2019 दिया गया है, उन सभी जिलों में मार्च 2019 के पूर्व कार्य पूरा कर लिये जायें। सीहोर, विदिशा, रायसेन, राजगढ़, खण्डवा आदि जिलों में ईव्हीएम के लिये स्ट्रांग रूम 15 फरवरी 2019 तक पूर्ण हो जायें, लोकसभा चुनाव में इनका उपयोग किया जायेंगा।

श्री राव ने कहा कि जिलों में सभी अभियंता, संबंधित जिलों में कलेक्टरों के साथ स्ट्रांग रूम के संबंध में समीक्षा कर जिन जिला मुख्यालयों पर जगह की कमी है। वहाँ जी प्लस 3 और जी प्लस 4 तक के स्ट्रांग रूम बनाने के लिये प्रतिवेदन प्रस्तुत करें। इस संबंध में प्रदेश के सभी स्ट्रांग रूम के चारो तरफ बाँउन्ड्री वाल और सुरक्षा कर्मियों के लिये अलग से कमरा बनाया जायें।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने प्रमुख अभियंता श्री वर्मा को निर्देशित किया कि ग्वालियर, चंबल और रीवा संभाग का दौरा कर स्ट्रांग रूम के संबंध में चल रही कार्यवाही की समीक्षा रिर्पोट एक सप्ताह में प्रस्तुत करें। बैठक में लोक निर्माण विभाग की पीआईयु के संभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY