रेलवे ने एक्सट्रा कोच देने से किया इनकार

भोपाल । पिछले कई वर्षों से आलमी तब्लीगी इज्तिमा के जरिये करोड़ों रुपये की कमाई करते आ रहे रेलवे को इस बार इसमें कोई रुचि नहीं है। दरअसल विधानसभा चुनाव की व्यस्तता दर्शाते हुए रेलवे ने इस वर्ष जमातियों की आमद और वापसी के लिए अतिरक्त कोच लगाने और स्पेशल ट्रेन चलाने में असमर्थता जताते हुए साफ मना कर दिया है।
पिछले करीब 25 वर्षों से रेलवे द्वारा आलमी तब्लीगी इज्तिमा में शरीक होने वाले जमातियों की सहूलियत के लिए अतिरिक्त कोच और स्पेशल ट्रेन की व्यवस्था करते आया है। इस दौरान दिल्ली, मुम्बई से लेकर गुजरात, उप्र, महाराष्ट्र, राजस्थान के अलावा दक्षिण के विभिन्न शहरों के लिए ट्रेन और कोच की व्यवस्था की जाती रही है। इस व्यवस्था से जहां इज्तिमा में आने और वापस जाने वालों को सुविधा मिलती थी। रेलवे को भी इससे बड़ी आमदनी होती रही है। लेकिन सूत्रों का कहना है कि रेलवे ने इस साल व्यवस्था से हाथ खींच लिए हैं। इसकी वजह इज्तिमा की तारीख के दौरान विधानसभा चुनाव होना बताया जा रहा है। रेलवे ने इसके लिए तर्क दिया है कि उसके अधिकांश रैक चुनाव ड्यूटी और सुरक्षा इंतजामों में लगे होने से वह अपनी 25 साल पुरानी व्यवस्था को बरकरार नहीं रख पाएगा।
23 नवम्बर से इज्तिमा
आलमी तब्लीगी इज्तिमा की शुरुआत 23 नवम्बर से होना है। पहली बार चार दिन के लिए हो रहे इस आयोजन में शरीक होने वाले जमातियों के आने का सिलसिला 20 नवम्बर के बाद तेज हो जाएगा। इसी तरह जमातियों की वापसी का सिलसिला 26 को दुआ ए खास के बाद शुरू हो जाएगा। इस दौरान 28 को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए प्रदेशभर में सरकारी दलों की आवाजाही, सुरक्षा बलों के मूवमेंट और चुनावी गतिविधियों के आखिरी दौर जारी रहेगा। इसके चलते रेलवे व्यवस्था भी प्रभावित होगी।
मार्च में दे दिया था प्रस्ताव
इज्तिमा इंतजामिया प्रबंधन कमेटी के सूत्र बताते हैं कि इज्तिमा के दौरान लगने वाली रेलवे की जरूरत को लेकर कमेटी ने मार्च में ही प्रस्ताव दे दिया था। लेकिन रेलवे ने ऐन इज्तिमा के समय सुविधाओं से इनकार कर जमातियों के लिए परेशानी के हालात बना दिए हैं।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY