रेल हादसे में मृतकों में बिहार-यूपी के ज्‍यादा लोग

अमृतसर। पंजाब के अमृतसर में दशहरे के मौके पर रावण दहन के दौरान मची भगदड़ के बाद ट्रेन की चपेट में आने से कम से कम 60 लोगों की मौत हो गई, जबकि सैकड़ों की संख्‍या में लाग बुरी तरह से घायल हुए जिनका इलाज स्‍थानीय अस्‍पताल में चल रहा है। हादसा जोड़ा रेल फाटक के पास उस वक्‍त हुआ जब पठानकोट से अमृतसर जा रही डीएमयू ट्रेन गुजर रही थी। इसी समय यह हादसा हो गया। मरने वालों में ज्‍यादातर लोग उत्‍तर प्रदेश और बिहार के रहने वाले हैं। मौके पर कम से कम 300 लोग मौजूद थे जो पटरियों के निकट एक मैदान में रावण-दहन देख रहे थे।
पंजाब सरकार ने अमृतसर में हुए हादसे पर प्रदेश में शनिवार को एक दिन के शोक की घोषणा की है। इस दौरान सभी दफ्तर, शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे।

अमृतसर के प्रथम उपमंडलीय मजिस्ट्रेट राजेश शर्मा ने बताया कि 50 शवों को बरामद किया गया है और कम से कम 50 घायलों को एक सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अधिकारियों ने बताया कि रावण के पुतले को आग लगाने और पटाखे फूटने के बाद भीड़ में से कुछ लोग रेल की पटरियों की ओर बढ़ना शुरू हो गए जहां पहले से ही बड़ी संख्या में लोग खड़े होकर रावण दहन देख रहे थे।

इस संबंध में रेलवे ने हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं। मनवाला रेलवे स्टेशन ने घायलों और मृतकों के परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं। इस नंबर पर रेलवे विभाग से संपर्क किया जा सकता है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY