मानार्थ टिकटों की संख्या में बढ़ोतरी कर सकता है बीसीसीआई

नई दिल्ली। मानार्थ टिकटों को लेकर कई राज्य इकाइयों की तरफ से चिंता जताये जाने के बाद बीसीसीआई अपने मान्यता प्राप्त संघों को शांत करने के लिये मुफ्त पास की संख्या में बढ़ोतरी कर सकता है। प्रशासकों की समिति (सीओए) की यहां शनिवार को बैठक होगी जिसमें इसका समाधान निकाला जा सकता है। यह पता चला है कि इसका एक जैसा समाधान नहीं निकल सकता है क्योंकि ईडन गार्डन्स, चेपक, वानखेड़े प्रत्येक की क्षमता भिन्न है।

बीसीसीआई के एक शीर्ष अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर कहा, ‘‘प्रशासकों की समिति की कल राजधानी में बैठक होगी। इसका एजेंडा मानार्थ पास के मसले को सुलझाना है। उच्चतम न्यायालय ने जिस नये संविधान को मंजूरी दी है उसके अनुसार 90 प्रतिशत टिकट आम जनता के लिये रखे जाने चाहिए। लेकिन इसको लेकर गंभीर व्यावहारिक मसला पैदा हो गया है और हमें तुरंत इसका समाधान ढूंढना होगा।’’ भारत और वेस्टइंडीज के बीच 24 अक्टूबर को होने वाला दूसरा वनडे की मेजबानी इंदौर के बजाय विशाखापट्टनम को सौंपी गयी क्योंकि मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ ने केवल पांच प्रतिशत पास मिलने पर मेजबानी करने में असमर्थता जतायी थी। तमिलनाडु क्रिकेट संघ ने भी मेजबानी से हटने की धमकी दी है। बंगाल क्रिकेट संघ भी नाखुश है क्योंकि पहले उसे 40 प्रतिशत टिकट मिलते थे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY