भाकर ने युवा ओलंपिक में निशानेबाजी में भारत को पहला स्वर्ण दिलाया

ब्यूनस आयर्स। मनु भाकर ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए मंगलवार को युवा ओलंपिक खेलों में भारत को निशानेबाजी में अब तक का पहला स्वर्ण पदक दिलाया। विश्व कप और राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली 16 वर्षीय भाकर ने महिलाओं की दस मीटर एयर पिस्टल में 236.5 अंक बनाकर सोने का तमगा हासिल किया। इस तरह से उन्होंने एशियाई खेलों और विश्व चैंपियनशिप की निराशा को पीछे छोड़ा।

रूस की इयाना इनिना ने 235.9 अंक के साथ रजत और निनो खुत्सबरिद्ज ने कांस्य पदक जीता। भाकर ने स्वर्ण पदक जीतने के बाद कहा, ‘‘यह मेरे लिए महत्वपूर्ण जीत है। यह मेरे लिए मनोबल बढ़ाने वाली है (एशियाई खेलों की निराशा के बाद) क्योंकि मेरा लक्ष्य और अधिक गौरवपूर्ण लम्हों के साथ लौटना था।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैंने हमेशा अपना सर्वश्रेष्ठ देने का प्रयास किया और इस दौरान कभी कभी सफलता नहीं मिली। लेकिन मेरा लक्ष्य हमेशा अच्छा प्रदर्शन करना, अच्छे निशाने लगाना और अधिक अंक हासिल करना रहा। यह काफी संतोषजनक है।’’

भाकर ने आठ महिलाओं के फाइनल में 10.0 से शुरुआत की और इसके बाद 10.1 और 10.4 के स्कोर बनाये। वह पहले चरण के बाद 99.3 अंक से आगे चल रही थी। दूसरे चरण में उन्होंने 9.8 के दो स्कोर बनाये लेकिन इसके बाद 10.1 और 9.9 से उन्होंने बढ़त बनाये रखी। भारतीय निशानेबाज ने इसके बाद दबदबा बनाये रखा। वह बीच में थोड़ी देर के लिये दूसरे स्थान पर खिसकी लेकिन जल्द ही वापसी करने में सफल रही। इससे पहले भाकर 576 अंक बनाकर क्वालीफाईंग में शीर्ष पर रही थी।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY