4 स्वर्ण के साथ टाटा मोटर्स जूनियर नेशनल चैम्पियनशिप की श्रेष्ठ टीम बनी हरियाणा

चितौड़गढ़। हरियाणा के पहलवानों ने एक बार फिर अपनी श्रेष्ठता साबित करते हुए पहली टाटा मोटर्स अंडर-24 राष्ट्रीय कुश्ती चैम्पियनशिप के अंतिम दिन रविवार को 10 में चार स्वर्ण अपने नाम किए। हरियाणा को अधिकांश स्वर्ण फ्रीस्टाइल के उच्च भार वर्ग में मिले।

गोरा बाडी इंडोर स्टेडियम में सम्पन्न इस टूर्नामेंट में हरियाणा की टीम एक रजत तथा चार कांस्य ही जीत सकी। इस शानदार प्रदर्शन के दम पर हालांकि हरियाणा की टीम इस टूर्नामेंट की श्रेष्ठ टीम बनने में सफल रही। हरियाणा ने कुल 195 अंक अर्जित किए जबकि दिल्ली ने 165 अंकों के साथ दूसरा तथा महाराष्ट्र ने 139 अंकों के साथ तीसरा स्थान हासिल किया।

स्वर्ण जीतने वाले सभी पहलवान रोमानिया में 12 से 18 नवम्बर तक होने वाली यू-23 विश्व चैम्पियनशिप में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। मेजबान राजस्थान को लाडो जाट (70 किग्रा) और राहुल राठी (79 किग्रा) की मदद से दो कांस्य पदक मिले। इस तरह हरियाणा ने इस शहर में पहली बार आयोजित राष्ट्रीय चैम्पियनशिप में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।

स्वर्ण जीतने वालों में दिल्ली के पहलवान भी शामिल हैं। दिल्ली को दो स्वर्ण मिले जबकि झारखंड, उत्तर प्रदेश, पंजाब तथा महाराष्ट्र के पहलवानों ने एक-एक स्वर्ण अपने नाम किया। अलग-अलग कटेगरी के परिणामों की बात की जाए तो दिल्ली के रवि कुमार ने 57 किग्रा में महाराष्ट्र के सागर को 10-4 से हराया। इसके बाद हरियाणा के अरुण ने 61 किग्रा में उप्र के विकास को इसी अंतर से पराजित किया।

65 किग्रा कटेगरी में दिल्ली के सुरजीत ने महाराष्ट्र के अक्षय को हराकर स्वर्ण जीता जबकि 70 किग्रा में झारखंड के नवीन ने हरियाणा के जसबीर को 9-3 से हराया। उच्च भार वर्ग कटेगरी में 75, 79 तथा 92 किग्रा कटेगरी में हरियाणा के प्रवीण कुमार ने महाराष्ट्र के कुमार लाहू को 15-3, दिनेश ने पंजाब के संदीप मान को 4-3 से और सुनील कुमार ने कर्नाटक के किरण को 5-3 से हराया।

इसी तरह 86 किग्रा भार वर्ग में उप्र के उपास शर्मा ने उत्तराखंड के निशांत गुर्जर को 4-3 से हराया जबकि पंजाब के करणदीप सिंह ने 97 किग्रा वर्ग में दिल्ली के नासिर हुसैन को 12-3 से हराया। 125 किग्रा कटेगरी में महाराष्ट्र के अभिजीत ने सर्विसेज के संजय को 7-2 से हराकर स्वर्ण जीता।

भारतीय कुश्ती महासंघ द्वारा पहली बार आयोजित इस टूर्नामेंट का लक्ष्य नए स्थानों पर नई प्रतिभाओं की तलाश है। भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने समापन समाहोर के दौरान कहा, ‘‘राजस्थान ने इस चैम्पियनशिप की मेजबानी जिस तरह से की, मैं उससे खुश हूं। मुझे इस बात की भी खुशी है कि रोमानिया में होने वाली विश्व चैम्पियनशिप के लिए हमने इस टूर्नामेंट के माध्यम से नए खिलाड़ी चुने। हमारी टीम काफी अच्छी है।’’

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY