नदी-तालाबों में हो रहा खनन, बिना परमिशन चल रहे ईंट-भट्टे

हरदा । जिले में नियमों को ताक पर रखकर खनिज संपदा का अवैध उत्खनन जारी है। इस उत्खनन पर कार्रवाई नहीं होने से आसपास के क्षेत्र में बड़े पैमाने पर बिना अनुमति ईंट-भट्टे संचालित हो रहे हैं, जिसके कारण शासन को भी राजस्व की हानि हो रही है। गौरतलब है कि सरकार एक और प्राकृतिक संसाधनों के संरक्षण के लिए जागरूकता अभियान चला रही है, वहीं खनन माफिया शासन की आंखों में धूल झोंकते हुए अवैध उत्खनन में जुटा है और अपनी जेब भर रहा है।

गहरीकरण के नाम पर निकाल रहे मिट्टी
हरदा, टिमरनी, खिरकिया व सिराली सहित अन्य क्षेत्रों में नियमों को ताक पर रखकर्र ईंट के भट्टे संचालित हो रहे हैं। खनन माफिया ग्रामीण क्षेत्रों में नदी और तालाबों के गहरीकरण के नाम पर व्यापक स्तर पर मिट्टी निकालकर व्यापार कर रहे हैं। जिले में अधिकांश नदी-नाले किनारे सहित आसपास के क्षेत्रों में जोरों से ईंट-भट्टे का काम जारी है। इन पर अंकुश नहीं है।
जांच कराई जाएगी
जब इस संबंध में जिला दण्डाधिकारी एस विश्वनाथन से बात की गई, तो उनका कहना है कि बिना अनुमति संचालित इंट-भट्टे और अनुमति प्राप्त निर्माताओं द्वारा नियमों और शर्तों का पालन नहीं करना अपराध की श्रेणी में आता है। इनके खिलाफ जांच करवाकर कार्रवाई की जााएगी।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY