बाबूलाल गौर और सरताज सिंह की जिद को वरिष्ठ भाजपा नेता ने ठहराया गलत

भोपाल । विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा में टिकट वितरण को लेकर घमासान मचा हुआ है। भाजपा के दो वरिष्ठ नेता बाबूलाल गौर और सरताज सिंह किसी भी कीमत पर अपनी सीट छोडऩे को तैयार नहीं है। दोनों ही वरिष्ठ नेता निर्दलीय चुनाव लडऩे की धमकी भी दे चुके है। इस पूरे मामले पर भाजपा के वरिष्ठ नेता कैलाश सारंग ने आज एक बयान में उनकी दावेदारी को गलत बताया है।

कैलाश सारंग ने पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल और पूर्व मंत्री सरताज सिंह के टिकट की दावेदारी करने को लेकर नसीहत दी है। कैलाश सारंग ने कहा है कि इतने सालों तक मंत्री, विधायक रहने के बाद टिकट की मांग करना और पार्टी पर दवाब बनाना गलत है। निर्दलीय या कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लडने की बात पर उन्होंने कहा कि यह खुद के पैर पर कुलहाडी मारने जैसा होगा। इतने सालों तक पार्टी ने इतना कुछ दिया फिर भी दावेदारी जताना गलत है।


गौरतलब है कि टिकट वितरण को लेकर मचे सियासी हंगामे के बाद भाजपा ने अभी कुछ सीटों को होल्ड पर रखा है। बाबूलाल गौर और सरताज सिंह की सीटों पर भी अभी फैसला नहीं हो सका है। बाबू लाल गौर और सरताज सिंह दोनों ही वरिष्ठ नेता पार्टी द्वारा टिकट काटे जाने पर निर्दलीय चुनाव लडऩे की धमकी दे चुके है। वहीं इस पूरे विवाद का फायदा उठाते हुए कांग्रेस भी दोनों नेताओं को उनकी सीटों से टिकट का न्यौता दे चुकी है। ऐसे में कयास लगाए जा रहें है कि यदि भाजपा ने दोनों नेताओं को टिकट नहीं दिए तो वे कांग्रेस से भी चुनाव लड़ सकते है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY