मैं लोगों की जिन्दगी बदलता हूं, इसलिए कांग्रेस के लोगों को गुस्सा आता है : शिवराज

राजगढ़। सत्ता के बिना कांग्रेसी पिछले 15 सालों से व्याकुल हो रहे हैं। मैं उनके रास्ते का कांटा बन गया हूं। एक किसान का बेटा कैसे 13 सालों से मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठा है, यह सोचकर कांग्रेस को गुस्सा आता है। यह बात शुक्रवार को मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने राजगढ़ में आयोजित जनसभा में कही। उन्होंने अपने शासन के दौरान प्रदेश का विकास न करने के लिए कांग्रेस को जमकर फटकार लगाई। इसके साथ ही जिले की पांचों सीटों पर भाजपा को जीत दिलाने के लिए सभा में उपस्थित लोगों को संकल्प भी दिलाया।

जनता को गुस्सा नहीं आता, लेकिन कांग्रेस को गुस्सा आता है
मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस आजकल खूब प्रचार कर रही है-गुस्सा आता है, गुस्सा आता है। जनता को गुस्सा नहीं आता, लेकिन कांग्रेस को गुस्सा आता है। पिछले 50 सालों में कांग्रेस ने प्रदेश का कोई विकास नहीं किया। जब मैं विकास करता हूं, जनता की सेवा करता हूं, तो कांग्रेस को गुस्सा आता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने एक इंच जमीन पर सिंचाई की व्यवस्था नहीं की। मैंने राजगढ़ जिले को डेम की सौगात देकर किसानों की चिंता की है। आने वाले वर्षों में इस क्षेत्र की एक इंच भूमि भी सूखी नहीं रहेगी। जब मैंने मोहनपुरा में कुंडालिया डेम की सौगात दी, तो कांग्रेस को गुस्सा आता है। मैंने पार्वती योजना, घोड़ापछाड़ योजना, पहाड़गढ़ योजना स्वीकृत की, तो कांग्रेस को गुस्सा आता है। गरीबों को एक रुपए किलो गेंहू, चावल दिलवाता हूं, तो कांग्रेस को गुस्सा आता है। भाजपा की सरकार हर गरीब को पक्का मकान दे रही है और 2022 तक हर गरीब को पक्का मकान मिल जाएगा। अरे कांग्रेसियो, तुमने लोगों को झुपड़िया में रखा रे। गुस्सा तुमको नहीं, जनता को तुम पर गुस्सा आता है। बच्चों को इंजीनियरिंग कॉलेज में भर्ती करवाता हूं, तो कांग्रेस को गुस्सा आता है। बहनों का दुख दर्द समझता हूं, बेटियों को लाड़ली लक्ष्मी बनाता हूं, तो कांग्रेस को गुस्सा आता है। कन्या विवाह कराता हूं, तो कांग्रेस को गुस्सा आता है। मैं वृद्ध जनों को तीर्थ यात्रा करवाता हूं, तो कांग्रेस को गुस्सा आता है। मैं किसानों को भरपूर दाम दिलवाता हूं, तो कांग्रेस को गुस्सा आता है। गरीबों का फ्री में इलाज कराता हूं, तो कांग्रेसियों को गुस्सा आता है। मैंने खेती को फायदे का धंधा बनाने का संकल्प लिया, तो कांग्रेस को गुस्सा आता है। मैं काम करता हूं, गड्ढे वाली सड़कों की जगह अच्छी सड़कें बनवाता हूं, तो कांग्रेसियों को गुस्सा आता है। मैं गरीबों को घर बिजली लगवाता हूं, तो कांग्रेस को गुस्सा आता है। मैं गरीबों के बिजली बिल माफ करता हूं, तो कांग्रेस को गुस्सा आता है। फ्लैट रेट पर बिजली देता हूं, तो गुस्सा आता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब इनके गुस्से का क्या करूं, गुस्सा तो तुम पर आता है जनता को। तुमने प्रदेश को बर्बाद कर दिया।

आपकी जिंदगी बेहतर बनाने के लिए मुख्यमंत्री हूं
सभा की शुरुआत मुख्यमंत्री ने मां जालपा से राजगढ़ और प्रदेश की समृद्धि के लिए आशीर्वाद मांग कर की। उन्होंने कहा कि मैंने जब भी मैया की पूजा की है, इस कामना के साथ की कि मेरे प्रदेश की साढ़े सात करोड़ जनता पर मैया की कृपा बनी रहे। आज भी मैं मां जालपा से यह आशीर्वाद मांगने आया हूं कि राजगढ़ जिले और मध्यप्रदेश पर मैया की कृपा बरसती रहे। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं सत्ता के स्वर्ण सिंहासन पर बैठकर आराम करने के लिए मुख्यमंत्री नहीं हूं। मैं आप लोगों की, प्रदेश की साढ़े सात करोड़ जनता की जिंदगी बेहतर बनाने के लिए मुख्यमंत्री हूं। मैं बच्चों का भविष्य बनाने के लिए मुख्यमंत्री हूं। उन्होंने कहा कि प्रदेश की साढ़े सात करोड़ जनता मेरा परिवार है। मैं जियूंगा तो तुम्हारे लिए और मरूंगा तो तुम्हारे लिए प्रदेश वासियो, और मुझे क्या करना है। मुझे कुर्सी पर बैठकर आराम नहीं करना, बल्कि जनता की जिंदगी बेहतर बनाने के लिए कुर्सी पर बैठा हूं। उन्होंने कहा कि हम किसानों को भरपूर दाम दिलाएंगे, गरीबी हटाएंगे, बच्चों का बेहतर भविष्य बनाएंगे, युवाओं को रोजगार देंगे, बहन-बेटियों को सशक्तीकरण करेंगे। लेकिन जब हम बेटियों को गलत निगाहों से देखने वालों को फांसी दिलवाते हैं, तो कांग्रेसियों को गुस्सा आता है। मैं मध्यप्रदेश को समृद्ध मध्यप्रदेश बनाना चाहता हूं, इसलिए कमलनाथ, सिंधिया, दिग्विजय सिंह और राहुल गांधी को गुस्सा आता है, क्योंकि वे प्रदेश को अपने शासनकाल की तरह बदहाल देखना चाहते हैं।

कुर्सी के लिए व्याकुल हैं कांग्रेसी
सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस को इसलिए गुस्सा आता है कि एक किसान का बेटा 13 सालों से कैसे मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठा है। कांग्रेसी सोचते हैं, ये कांटा कैसे दूर होगा। 15 साल हो गए कांग्रेस को सत्ता से बाहर हुए। 15 सालों से कांग्रेसी कुर्सी से दूर हैं, इसलिए उन्हें गुस्सा आता है। कांग्रेसियों को सपने में भी कुर्सी दिखती है। उन्हें रात-रात भर नींद नहीं आती। करवटें बदलते रहते हैं और शिवराज को गालियां देते रहते हैं। मुख्यमंत्री ने सभा में उपस्थित लोगों से पूछा कि जितने काम भाजपा की सरकार ने राजगढ़ जिले में कराए हैं, क्या कांग्रेस ने कराए थे ? क्या कोई कल्पना कर सकता था कि जिले के गांव-गांव में पीने और सिंचाई करने के लिए पानी उपलब्ध होगा? मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके लिए हमारे जनप्रतिनिधियों, नेताओं और कार्यकर्ताओं ने काम किया। जब हमारे जनप्रतिनिधि जनता की तकलीफों को दूर करने का काम करते हैं, तो कांग्रेस को गुस्सा आता है।
मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान राजगढ़ जिले के भाजपा प्रत्याशियों के नामांकन दाखिल कराने के लिए शुक्रवार को राजगढ़ पहुंचे। हैलीपेड पर पार्टी के विधानसभा उम्मीदवारों और वरिष्ठ नेताओं ने मुख्यमंत्री की आगवानी की। मुख्यमंत्री ने पार्टी के प्रत्याशियों नरसिंहगढ़ से राजवर्धन सिंह, राजगढ़ से अमरसिंह यादव, खिलचीपुर से हजारीलाल दांगी, सारंगपुर से कुंवर कोठार और ब्यावरा से नारायण पंवार का नामांकन दाखिल कराया। इसके उपरांत मुख्यमंत्री ने जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान मंच पर पार्टी के सभी प्रत्याशी, सांसद रोडमल नागर, पूर्व विधायक मोहन शर्मा, पूर्व विधायक वीर सिंह पवार, जिला अध्यक्ष दीपक शर्मा, निगम उपाध्यक्ष रघुनंदन शर्मा सहित अन्य नेता उपस्थित थे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY