नहीं चला भाजपा के बड़े नेताओं का जादू, करारी हार की ओर भाजपा

नई दिल्ली। देश के पांच राज्‍यों में विधानसभा चुनाव की मतगणना जारी है। मध्य प्रदेश, राजस्थान, तेलंगाना और छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी दमखम के साथ लड़ा, लेकिन इन चुनावों इतना साफ नजर आ रहा है कि भाजपा के दिग्‍गज नेताओं की लोकप्रियता पूरी तरह खत्‍म हो चुकी है। इन चुनावों में भाजपा ने दिग्ग्जों को चुनाव प्रचार के लिए उतारा। इन्हीं प्रचारकों में से एक थे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ। योगी आदित्‍यनाथ ने इन राज्‍यों में कुल 70 सभाएं कीं थी। पर जिस तरीके के शुरुआती रुझान देखने को मिल रहे हैं उसके बाद कहीं से ऐसा नहीं लग रहा कि इन चुनावों में योगी आदित्यनाथ का जादू चला है।
वहीं इन पांच राज्‍यों के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के अच्छे प्रदर्शन का श्रेय पार्टी के नेता अपने अध्यक्ष राहुल गांधी को दे रहे हैं जिन्होंने चुनाव वाले पांचों प्रदेशों में कुछ हफ्तों के भीतर 82 सभाएं और सात रोड शो किए थे। योगी आदित्‍यनाथ ने इन राज्‍यों में कुल 70 सभाएं कीं थी। पर जिस तरीके के शुरुआती रुझान देखने को मिल रहे हैं उसके बाद कहीं से ऐसा नहीं लग रहा कि इन चुनावों में योगी आदित्यनाथ का जादू चला है।
छत्तीसगढ़ में तो रमन सिंह ने योगी के पैर छुने के बाद अपना नामांकन भरा था। योगी ने राजस्थान में सबसे ज्यादा 26 चुनावी सभाएं कीं, छत्तीसगढ़ में 19 और MP में 17 सभाएं कीं। तेलंगाना में सिर्फ योगी की 8 सभाएं हुईं। फिलहाल मध्य प्रदेश को छोड़कर बाकी राज्यों में भाजपा की हालत पतली है। छत्तीसगढ़ में तो भाजपा की हालत आर बी शर्मनाक हो गई है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY