निमाड़ की बेटी ने प्रांजल ने राष्ट्रीय खेलो इंडिया स्पर्धा में जीता कास्य पदक

खंडवा। जिले में हर क्षेत्र में प्रतिभाएं अपना हुनर प्रदर्शित कर खंडवा का नाम प्रदेश ही नहीं राष्ट्र के साथ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रोशन कर रही हैं। गायन के साथ ही कुश्ती में भी खंडवा के पहलवान राष्ट्रीय स्तर पर अपने कदम बढ़ा चुके हैं। कहने को तो कुश्तियों का खेल पुरूष वर्ग तक ही सीमित था, लेकिन जनजागृति के चलते अब महिलाएं भी कुश्ती के क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं।
समाजसेवी सुनील जैन ने बताया कि पूर्व विधायक एवं मप्र केसरी रह चुके स्व. हुकुमचंद यादव के साथ ही रघुनाथ पांजरे ने कुश्ती को इस जिले में जिंदा रखा है और रघु पांजरे के साथ ही अन्य प्रशिक्षकों की देखरेख में कुश्ती के क्षेत्र में खंडवा के पहलवान अपना हुनर दिखा रहे हैं। सोनखेड़ी की महिला पहलवान अपर्णा विश्नोई ने अंतरराष्ट्रीय कुश्ती में खिताब जीतकर जिले का नाम रोशन किया वहीं ऋषि सोनकर पहलवान की दोनों बालिकाएं अनेरी व प्रांजल कुश्ती में अपना हुनर लोहा मनवाते हुए आगे बढ़ रही हैं।
जानकारी के अनुसार प्रांजल सोनकर ने जहां विगत दिनों राष्ट्रीय खेल स्कूली प्रतियोगिता में धुलिया एवं हरियाणा में कास्य पदक हासिल किया वहीं राष्ट्रीय सबजूनियर प्रतियोगिता जो आंध्र के चिंतुर में संपन्न हुई थी वहां पर भी पहलवानी का शानदार प्रदर्शन करते हुए कास्य पदक प्राप्त किया था। इस वर्ष 8 जनवरी को राष्ट्रीय खेलो इंडिया प्रतियोगिता पुना में संपन्न हुई वहां पर भी खंडवा की बेटी निमाड़ की लाडली लक्ष्मी प्रांजल सोनकर पहलवानी में अपने हुनर दिखाते हुए प्रतिद्वंदी खिलाड़ी को मात देते हुए जीत हासिल कर राष्ट्रीय खेलो इंडिया का कांस्य पदक अपने नाम कर राष्ट्रीय स्तर पर प्रदेश के साथ निमाड़ का नाम भी रोशन किया।
पुना में आयोजित प्रतियोगिता में प्रांजल सोनकर को केन्द्रीय खेल मंत्री राजवर्धनसिंह राठौर, अर्जुन अवार्डी कृपाशंकर पटेल, महाराष्ट्र की मंत्री एवं युवा मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष पंकजा मुंडे ने सम्मानित कर कास्य पदक प्रदान किया। इस अवसर प्रांजल के पिता ऋषि सोनकर भीमौजूद थे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY