मध्‍यप्रदेश के कई स्‍थानों पर शीतलहर का दौर जारी

भोपाल। जम्मू-कश्मीर, उत्‍त्‍राखंड और हिमाचल प्रदेश में हो रही बर्फबारी का असर समूचे उत्‍तरभारत के साथ-साथ मध्‍यभारत में भी बढ़ता ही जा रहा है। सर्द हवाएं और शीतलहर चलन से ठंडक बढ़ गई। राजधानी भोपाल में मंगलवार को न्यूनतम 8 डिग्री सेल्सियस के नीचे तक पहुंच गया है। जिससे रात के तापमान में गिरावट का दौर जारी है जिससे दिन में भी सिहरन होने लगी है, हालांकि पिछले दो दिन के मुकाबले तापमान में दो डिग्री की बढ़ोत्‍तरी भी हुई है, लेकिन ठंड का असर अभी बरकरार है।


जानकारी के अनुसार प्रदेश में पिछले दो सप्‍ताह से सर्दी का असर बढ़ता ही जा रहा है। एक तरफ जहां प्रदेश में शीतलहर चल रही तो दूसरी ओर अब कोहरा छाने के कारण परेशानी होने लगी है। हवा का रुख बदलने से मौसम का मिजाज भी बदल गया है। एक दिन पहले ही राजधानी का तापमान 6 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था वहीं मंगलवार को 8 डिग्री पर चला गया, लेकिन ठंड से कोई राहत नहीं मिली है। वहीं एक बार फिर शीतलहर चलने से किसानों की चिन्‍ता बढ़ गई, क्‍योंकि एक सप्‍ताह पहले ही कई जगह की फसलें शीतलहर में चौपट हो गई हैं, इस कारण जहां फसले अभी सुरक्षित हैं उन किसानों को भी डर सताने लगा है कि कहीं कोहरा और शीतलहर का प्रभाव न पड़ जाए।
गौरतलब है कि पिछले दो सप्‍ताह से पूरे मध्यप्रदेश में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। पिछले दिनों भोपाल, ग्वालियर, खजुराहो, पचमढ़ी इस सीजन में कोल्ड डे रहे हैं। राजधानी भोपाल, ग्वांलियर और खजराहो में 4 डिग्री तक तापमान पहुंच गया था। सोमवार को तो मध्‍यप्रदेश के अधिकांश स्‍थानों पर इतना घना कोहरा छाया हुआ था कि लोगों को दिन भी वाहनों की लाइटें चलानी पड़ी थी, हालांकि मंगलवार को कोहरा का असर कम रहा।
मंगलवार को भोपाल का न्‍यूनतम तापमान 8 डिग्री, ग्‍वालियर का 7.5, इंदौर का 7 डिग्री और जबलपुर का 9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।
मौसम विभाग के अनुसार जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्‍तराखंड में हुई बर्फबारी के कारण राजस्थान के आसमान पर बने चक्रवात असर मध्‍यप्रदेश में दिखाई दे रहा है। यही कारण है कि हवा का रुख उत्तर की तरफ हो रहा है इस कारण ठंड बढ़ गई और आगामी दिनों में इसी तरह का क्रम बने रहने के आसार हैं, फिलहाल आने समय में तापमान में गिरावट जारी रहेगी।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY